NDTV Khabar

सृजन घोटाला : नीतीश कुमार बोले, सीबीआई जांच पर भरोसा नहीं है तो मॉनिटरिंग करवा लें

सोमवार को अपने जन संवाद कार्यक्रम के बाद संवाददाता सम्मेलन में नीतीश कुमार ने साफ़ कहा कि इस घोटाले में जो भी शामिल रहा है, उनमें से किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

262 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सृजन घोटाला : नीतीश कुमार बोले, सीबीआई जांच पर भरोसा नहीं है तो मॉनिटरिंग करवा लें

नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के सृजन घोटाले में हर दिन एक नया ख़ुलासा हो रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी इस घोटाले की सचाई को उजागर करने में विफलता का आरोप लग रहा है. सोमवार को अपने जन संवाद कार्यक्रम के बाद संवाददाता सम्मेलन में नीतीश कुमार ने साफ़ कहा कि इस घोटाले में जो भी शामिल रहा है, उनमें से किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

पढ़ें- सृजन घोटाला : सुशील मोदी ने कहा- रेखा मोदी से मेरा या मेरे परिवार का कोई लेना देना नहीं

उन्होंने अपने विरोधियों को से कहा कि अगर उन्हें सीबीआई जांच की निष्पक्षता पर भरोसा नहीं तो वो हाई कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट से इस जांच की मॉनिटरिंग के लिए जा सकते हैं  और उनका इस मुद्दे पर कोई विरोध नहीं करेगा. लेकिन, नीतीश ने सभी लोगों जिनमें उनके राजनीतिक विरोधी शामिल हैं, से आग्रह किया कि अगर उनके पास कोई दस्तावेज़ या काग़ज़ात हो तो वे उसे सीबीआई को दें जिससे जांच में मदद मिले. 

पढ़ें-  कैबिनेट विस्तार में जेडीयू का नाम बेवजह लिया गया : नीतीश कुमार

उन्होंने जांच एजेंसी पर लोगों से भरोसा रखने की अपील भी की. प्रशासनिक अधिकारियों के मिलीभगत पर उन्होंने कहा कि इतना में आपको भरोसा दिलात हूं कि उसको सज़ा ज़रूर दिलायी जाएगी. नीतीश ने स्वीकार किया कि इस घोटाले के बाद अब कई क़दम लिए गए हैं जिससे भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति न हो. इसके किए नीतीश ने दावा किया कि संस्थागत परिवर्तन किया गया हैं और अब पैसे को फ़र्ज़ी तरीक़े से कोई दूसरे के अकाउंट में नहीं डाल सकता.

वीडियो- सृजन घोटाले में नया खुलासा


सृजन घोटाले में अब तक 1200 करोड़ रुपये के घोटाले को लेकर प्राथमिकी  दर्ज हो चुकी है. सीबीआई एक साथ बारह मामलों की जांच कर रही हैं. इस घोटाले के उजागर होने के बाद कई बैंक के अधिकारी, सरकारी अधिकारी जेल के सलाखों के पीछे हैं. राजद अध्यक्ष लालू यादव अपने बेटे और बिहार विधान सभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के साथ एक सृजन यात्रा भागलपुर तक करने वाले हैं. पिछली बार तेजस्वी यादव जब भागलपुर गए थे तब ना उन्हें सभा करने की अनुमति मिली थी ना सृजन के मुख्यालय सबौर जाने की.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement