Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

डोकलाम विवाद के बाद सिक्किम और भूटान से लगी सीमा पर SSB ने बढ़ाई ताकत

इस बल के पास 699 किलोमीटर लंबी भूटान से लगी हुई सीमा की निगरानी का जिम्मा है और डोकलाम से ये बल करीब 20 किलोमीटर दूरी पर है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डोकलाम विवाद के बाद सिक्किम और भूटान से लगी सीमा पर SSB ने बढ़ाई ताकत

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते सशस्त्र सीमा बल के डीजी रजनीकांत मिश्रा

नई दिल्ली:

भूटान और नेपाल बॉर्डर पर तैनात सशस्त्र सीमा बल के डीजी रजनीकांत मिश्रा ने कहा कि चीन के साथ हुए डोकलाम विवाद के बाद सिक्किम और भूटान से लगी हुई सीमा पर नए बॉर्डर पोस्ट बनाकर सशस्त्र सीमा बल अपनी ताकत और बढ़ा रही है. 

हालांकि, इस बल के पास 699 किलोमीटर लंबी भूटान से लगी हुई सीमा की निगरानी का जिम्मा है और डोकलाम से ये बल करीब 20 किलोमीटर दूरी पर है. इसका सीधे तौर पर चीन सीमा से कोई लेना देना नही हैं.

यह भी पढ़ें - Exclusive: चीन ने डोकलाम में पिछले दो महीने में नई सड़कें बनाईं, सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा

अपनी 54 वी वर्षगांठ के मौके पर एसएसबी के डीजी ने कहा कि हमारी तैनाती भारत भूटान और चीन के ट्राई जंक्शन के दक्षिण हिस्से में है. इस इलाके में हम ज्यादा सतर्क हैं और अपनी तादाद को भी बढ़ा रहे हैं. यहां ना केवल बॉर्डर आउट पोस्ट बनेंगे बल्कि बटालियन हेड क्वाटर भी बनाए जाएंगे. यहां पर करीब 1000 और जवानों की  तैनाती होगी.


यह भी पढें - चीन ने सर्दियों में डोकलाम के निकट अच्छी संख्या में अपने सैनिकों को तैनात रखने के दिये संकेत

टिप्पणियां

डीजी ने कहा कि नेपाल और भूटान के बॉर्डर पर 734 बॉर्डर पोस्ट बनाने की अनुमति मिली हुई है, जिसमें 635 बन गये हैं. एसएसबी डीजी ने कहा कि भूटान और नेपाल से लगी सीमा पर पाकिस्तान की तरह फेंसिंग नहीं हैं. इसलिए फिलहाल दो जगहों पर लेजर फेंस लगाया जा रहा है ताकि कोई भी गैरकानूनी रूप से भारत में आ ना सके.

VIDEO: चीन ने विवादित डोकलाम में सड़क निर्माण का काम आगे बढ़ाया



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कौन था औरंगजेब का भाई दारा शिकोह, जिसकी दिल्ली में कब्र खोज रही है मोदी सरकार?

Advertisement