NDTV Khabar

अर्थव्यवस्था में काला धन कितना? स्थायी समिति ने कहा- रिपोर्टें सार्वजनिक करे वित्त मंत्रालय

काले धन पर नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस एंड पालिसी, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंसियल मैनेजमेंट और NCAER की तीन अलग-अलग रिपोर्टें

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अर्थव्यवस्था में काला धन कितना? स्थायी समिति ने कहा- रिपोर्टें सार्वजनिक करे वित्त मंत्रालय

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. भारतीय अर्थव्यवस्था में ब्लैक मनी को लेकर तीन अलग-अलग आकलन
  2. वित्तीय मामलों पर संसद की स्थायी समिति की बैठक, जानकारी साझा की गई
  3. एक संस्थान ने कहा काला धन कुल मुद्रा का दो प्रतिशत, दूसरे ने कहा 12 %
नई दिल्ली:

आर्थिक मामलों पर संसद की स्थायी समिति ने वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे ब्लैक मनी पर तैयार तीन वित्तीय रिसर्च संस्थाओं नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस एंड पालिसी, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंसियल मैनेजमेंट और NCAER की तीन अलग-अलग रिपोर्ट सार्वजनिक करें. संसद भवन परिसर में स्थायी समिति की एक अहम बैठक में यह फैसला लिया गया.

सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया है कि गुरुवार को वित्तीय मामलों पर संसद की स्थायी समिति की बैठक में राजस्व सचिव और सीबीडीटी के चेयरमैन पेश हुए और ब्लैक मनी के मसले पर समिति के सदस्यों के सामने तीनों वित्तीय रिसर्च संस्थाओं नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस एंड पालिसी, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंसियल मैनेजमेंट और NCAER  की रिपोर्टों  में दी गई जानकारी साझा की.

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत बोले- नोटबंदी के बाद भी चुनावों में कम नहीं हुआ काला धन


स्थायी समिति के एक वरिष्ठ सदस्य ने एनडीटीवी को बताया कि वित्तीय रिसर्च संस्थाओं ने भारतीय अर्थव्यवस्था में ब्लैक मनी कितनी है, इस अहम मसले पर अलग-अलग आकलन पेश किए हैं. एक संस्थान ने आकलन किया है कि भारत में काला धन टोटल मनी सर्कुलेशन का दो प्रतिशत है. जबकि एक दूसरे वित्तीय रिसर्च संस्थान ने आकलन किया है कि काला धन टोटल मनी सर्कुलेशन का 12 फीसदी तक हो सकता है.

VIDEO : बड़ी मात्रा में काला धन पकड़ा

टिप्पणियां

अब स्थायी समिति के चेयरमैन वीरप्पा मोइली ने तय किया है कि समिति ब्लैक मनी पर एक विस्तृत रिपोर्ट लोकसभा स्पीकर को पेश करेगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement