कोरोना संकट के बीच शेयर बाजार में तेजी, 2009 के बाद बाजार में एक कारोबारी दिन की सबसे बड़ी उछाल

बाजार बंद होने पर सेंसेक्स ने 2476.26 अंक या 8.97% ऊपर 30,067.21 पर और निफ्टी 708.40 पॉइंट या 8.76% ऊपर 8,792.20 का करोबार किया.

कोरोना संकट के बीच शेयर बाजार में तेजी, 2009 के बाद बाजार में एक कारोबारी दिन की सबसे बड़ी उछाल

शेयर बाजार में रिकॉर्ड उछाल

मुंबई:

देश में बढ़ते कोरोना संकट के बीच मंगलवार को भारतीय शेयर बाजार में जोरदार उछाल दर्ज किया गया. बाजार बंद होने पर सेंसेक्स ने 2476.26 अंक या 8.97% ऊपर 30,067.21 पर और निफ्टी 708.40 पॉइंट या 8.76% ऊपर 8,792.20 का करोबार किया. 10 साल बाद ये एक दिन की सबसे बड़ी तेजी है. इससे पहले साल 2009 में इतनी उछाल देखने को मिली थी.  इससे पहले शुक्रवार, 3 अप्रैल को बाजारों में गिरावट देखने को मिली थी. सेंसेक्स ने 591.07 अंक नीचे 27,674.24 पर और निफ्टी ने 170.00 पॉइंट नीचे 8,083.80 का करोबार खत्म किया था.

वैश्विक शेयर बाजारो में सुधार के बीच बंबई शेयर बाजार के प्रमुख सेंसेक्स सूचकांक में मंगलवार को शुरुआती कारोबार के दौरान ही 1,300 अंक से अधिक की तेजी देखने को मिली थी. बैंक, आईटी और ऑटो शेयरों ने इस तेजी की अगुवाई की थी. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स बढ़त दर्शाता हुआ 28,963.25 के स्तर पर जा पहुंचा था, जिसके बाद उसमें थोड़ी गिरावट आई 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक 1,127.57 अंक या 4.09 प्रतिशत बढ़कर 28,718.52 पर कारोबार कर रहा था. इसी तरह एनएसई निफ्टी 347.95 अंक या 4.30 प्रतिशत चढ़कर 8,431.75 पर पहुंच गया था. 

सेंसेक्स में इंडसइंड बैंक सबसे अधिक 15 फीसदी ऊपर था, जिसके बाद महिंद्रा एंड महिंद्रा, एचसीएल टेक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और इंफोसिस थे. दूसरी ओर बजाज फाइनेंस में गिरावट देखने को मिली. पिछले कारोबारी सत्र में शुक्रवार को बीएसई सेंसेक्स 674.36 अंक या 2.39 प्रतिशत की गिरावट के साथ 27,590.95 पर और एनएसई निफ्टी 170 अंक या 2.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 88383.80 पर बंद हुआ था. इस दौरान विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता रहे और शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने सकल आधार पर 1,960.97 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों को बेचा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com