जन गण मन यात्रा के दौरान कन्हैया कुमार के काफिले पर बिहार में एक बार फिर हुआ पथराव

घटना के बाद कन्हैया कुमार के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया. प्रशासन की तरफ़ से वहां पर जो प्रदर्शनकारी जमा थे उन्हें हटाने के लिए कोई इंतज़ाम नहीं किया गया था.

जन गण मन यात्रा के दौरान कन्हैया कुमार के काफिले पर बिहार में एक बार फिर हुआ पथराव

कन्हैया कुमार के काफिले पर पथराव

खास बातें

  • सहरसा जाते समय हुई काफिल पर हमला
  • कन्हैया के समर्थकों ने किया प्रदर्शन
  • पहले भी हुआ है पथराव
पटना:

सीपीआई नेता कन्हैयार कुमार के काफिले पर एक बार फिर पथराव किया गया है. घटना बिहार के सहरसा जाते समय हुई. इस हमले में उनके काफिले में चल रहे गाड़ियों के शीशे टूटे. घटना के बाद कन्हैया कुमार के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया. प्रशासन की तरफ़ से वहां पर जो प्रदर्शनकारी जमा थे उन्हें हटाने के लिए कोई इंतज़ाम नहीं किया गया था. यह दूसरी बार है जब नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ इस जत्थे पर हमला किया गया है.

शिवसेना ने कहा- कन्हैया कुमार के शब्दों से ज्यादा खतरनाक हैं शरजील इमाम के शब्द

कन्‍हैया कुमार की मीडिया टीम ने बताया कि बुधवर को जन गण मन यात्रा के सातवें दिन जब जत्था सुपौल से गुजर रहा था इस दौरान मलिक चौक के पास भाजपा समर्थकों ने काफिले की गाड़ियों पर नारे लगाते हुए पथराव शुरू कर दिया. इस हमले में दो गाड़ियों का शीशा टूट गया. साथ ही कई यात्रियों को चोट आई एवं एक गाड़ी के ड्राइवर का मुंह फुट गया. कन्हैया कुमार जिस गाड़ी पर सवार थे उस पर भी पत्थर और स्याही फेंकी गई. सबसे चिंताजनक बात यह है कि यह हमला पुलिस की मौजूदगी में सदर थाने से लगभग 100 मीटर की दूरी पर हुआ है.

कन्हैया कुमार के लिए अधिकारियों को जमकर डांटा CM नीतीश कुमार ने, BJP हैरान

बता दें कि कन्हैया कुमार के काफिले पर इस तरह का यह कोई पहला हमला नहीं है. इससे पहले एक फरवरी को भी  कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) के काफिले पर पथराव किया गया था. घटना बिहार के सारण जिले के कोपा थाना क्षेत्र की थी. जिससे उनके काफिले में शामिल दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. इस घटना में हालांकि कन्हैया को कोई नुकसान नहीं पहुंचा. कन्हैया अपनी इस यात्रा के दौरान करीब 50 जनसभाएं करने वाले हैं.

पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि कन्हैया शनिवार को सीवान से छपरा जा रहे थे, तभी कोपा बाजार में असामाजिक तत्वों ने उनके काफिले पर पथराव कर दिया. इस घटना में काफिले में शामिल दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए, जबकि कुछ लोगों को हल्की चोटें भी लगी हैं.

शिवसेना ने कहा- कन्हैया कुमार के शब्दों से ज्यादा खतरनाक हैं शरजील इमाम के शब्द

कन्हैया इन दिनों बिहार में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ 'जन-गण-मन यात्रा' पर हैं. एक महीने तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान वे बिहार के लगभग सभी प्रमुख शहरों में पहुंचेंगे और करीब 50 सभाएं करेंगे. कन्हैया ने इस यात्रा की शुरुआत 30 जनवरी को बेतिया से की है. कन्हैया इस यात्रा के दौरान अब तक पूर्वी चंपारण, गोपालगंज और सीवान की यात्रा कर चुके हैं.

VIDEO : कन्हैया की रैली रोकने पर नीतीश ने प्रशासन को फटकारा

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com