ब्लू व्हेल के चक्कर में एक और छात्र ने कर ली खुदकुशी

इस गेम में शामिल होने वाले प्रतियोगियों को 50 दिन में 50 काम पूरे करने के लिए दिए जाते हैं, जिनमें अंतिम काम हमेशा आत्महत्या करना होता है.

ब्लू व्हेल के चक्कर में एक और छात्र ने कर ली खुदकुशी

आत्महत्या के लिए उकसाता है ब्लू व्हेल गेम

खास बातें

  • मदुरै का था यह छात्र
  • छात्र के बाएं हाथ में बनी है व्हेल
  • तमिलनाडु में यह पहली मौत
नई दिल्ली:

तमिलनाडु के मदुरै में एक 19-वर्षीय छात्र ने बुधवार शाम को पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली है, और पुलिस का कहना है कि यह कदम मोबाइल गेम 'ब्लू व्हेल चैलेंज' से जुड़ा हुआ है. गौरतलब है कि इस गेम में शामिल होने वाले प्रतियोगियों को 50 दिन में 50 काम पूरे करने के लिए दिए जाते हैं, जिनमें अंतिम काम हमेशा आत्महत्या करना होता है.

पढ़ें : ब्लू व्हेल का एक और शिकार ? 11वीं के छात्र ने आत्महत्या का प्रयास किया
 
मदुरै के कलाईनार नगर इलाके में रहने वाले विग्नेश के घर से मिले नोट में लिखा है, "ब्लू व्हेल कोई खेल नहीं है... एक बार आप इसमें घुस गए, तो निकलने का कोई रास्ता नहीं..." पुलिस को विग्नेश के बाएं हाथ पर उकेरी गई व्हेल मछली की तस्वीर भी मिली है, जिसके नीचे 'Blue Whale' लिखा बी हुआ है.

वीडियो : बच्चों के कैसे बचाएं ब्लू व्हेल से

तिरुपरंकुंद्रम स्थित एक प्राइवेट कॉलेज का विद्यार्थी विग्नेश बी.कॉम के दूसरे साल में पढ़ रहा था. देशभर में कई जान ले चुके मोबाइल गेम ब्लू व्हेल चैलेंज की वजह से तमिलनाडु में हुई यह पहली मौत है. रूस में शुरू हुए इस खेल से अब तक दुनियाभर में 100 से ज़्यादा मौतें हो चुकी बताई जाती हैं, और हिन्दुस्तान में भी कई राज्यों ने इंटरनेट पर चलने वाले इस गेम को बैन कर दिया है. प्रशासन ने भी माता-पिता और अभिभावकों से अपने बच्चों का ध्यान रखने तथा उनकी ऑनलाइन गतिविधियों पर नज़र रखने का आग्रह किया है. वहीं मदुरै जिला पुलिस ने एक वाट्सएप (77088 06111) नंबर जारी किया है जिसको लेकर अपील की गई है कि ब्लू व्हैल को लेकर कोई भी जानकारी यहां दी जा सकती है.

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com