NDTV Khabar

डीयू के इस बड़े कॉलेज में सुविधाएं न मिलने से खफा छात्रों ने किया प्रदर्शन

लाइब्रेरी, प्ले ग्राउंड, ऑडिटोरियम जैसी बुनियादी सुविधाओं की कमी का विरोध कर रहे हैं छात्र

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
डीयू के इस बड़े कॉलेज में सुविधाएं न मिलने से खफा छात्रों ने किया प्रदर्शन

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. सुबह से ही हंगामा कर रहे थे छात्र
  2. डीयू पर लगाया जल्दबाजी में निर्णय लेने का आरोप
  3. कॉलेज प्रशासन पर लगाया कक्षाए न कराने का आरोप
नई दिल्ली : दिल्ली विश्विवद्यालय (डीयू) बीते कुछ वर्षों से अलग-अलग वजहों से चर्चाओं में रहा है. ताजा विवाद एक बड़े कॉलेज में सुविधाओं की कमी से जुड़ा है. सोमवार को कॉलेज के छात्रों ने प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. छात्रों ने इस दौरान कॉलेज के प्रिंसिपल से मुलाकात भी की. दरअसल, यह पूरा विवाद डीयू प्रशासन के उस निर्णय से जुड़ा हुआ है, जिसमें दयाल सिंह इवनिंग कॉलेज को मार्निंग किया गया है.  इस निर्णय के बाद अब इवनिंग शिफ्ट में आने वाले छात्रों को सुबह कॉलेज आना होगा. छात्र इसी बात से नाराज हैं. छात्रों का कहना है कि कॉलेज की शिफ्ट बदल देने से उनकी दिक्कत पहले से और ज्यादा बढ़ गई है.

यह भी पढ़ें: टीचरों को ‘आतंकित करना’ बहुत ही चौंकाने वाली बात : अदालत ने डीयू मामले पर कहा 

कई बुनियादी सुविधाएं न होने की शिकायत 
दयाल सिंह इवनिंग कॉलेज (जिसे अब वंदेमातरम कॉलेज का नाम दिया गया है) में पढ़ने वाले मो.मुकीन ने बताया कि डीयू प्रशासन का यह निर्णय बीच सत्र में आया है. कॉलेज को शाम से सुबह  शिफ्ट करने के साथ-साथ सुविधाएं भी बढ़ाई जानी चाहिए थी. इस बदलाव के बाद मॉर्निंग और इवनिंग कॉलेज के कुल आठ हजार से ज्यादा छात्र एक साथ एक ही शिफ्ट में पढ़ाई करेंगे. इस वजह से हमारी कई कक्षाएं भी नहीं हो पा रही हैं. कॉलेज की शिफ्ट बदले जानें से हमें कोई दिक्कत नहीं है लेकिन कक्षाएं सुचारू रूप से चालने के लिए सुविधाएं भी बढ़ाई जानी चाहिए थी.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: एमबीए कोर्स के लिए डीयू में रजिस्‍ट्रेशन शुरू
 
लाइब्रेरी तक में जगह नहीं 
दयाल सिंह इवनिंग कॉलेज के रवि ने बताया कि सुबह की शिफ्ट में पढ़ने में किसी को कोई दिक्कत नहीं है. हमें सिर्फ पढ़ाई करने के लिए सुविधाएं चाहिए. पहले हम शाम के समय आते थे तो मॉर्निंग के छात्र कॉलेज में नहीं होते थे. हम लाइब्रेरी से लेकर प्ले ग्राउंड और यहां तक की ऑडिटोरियम का भी इस्तेमाल कर सकते थे. अब दोनों कॉलेज का समय एक ही होने से हमें खासी दिक्कत हो रही है.

VIDEO: रामजस कॉलेज में भी छात्रों ने किया था डीयू प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन 

लाइब्रेरी, प्ले ग्राउंट और ऑडिटोरियम छोटे हैं. कॉलेज और डीयू प्रशासन को कॉलेज का समय बदलने से पहले सुविधाएं बढ़ाना चाहिए था.   


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement