स्वामी का मुख्य आर्थिक सलाहकार पर हमला जारी, जेटली की सलाह को दरकिनार किया

स्वामी का मुख्य आर्थिक सलाहकार पर हमला जारी, जेटली की सलाह को दरकिनार किया

अरविंद सुब्रह्मण्यम और सुब्रह्मण्यम स्वामी का फाइल फोटो

नई दिल्ली:

वित्त मंत्री अरुण जेटली की संयम बरतने की सलाह से बेपरवाह सुब्रह्मण्यम स्वामी ने भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रह्मण्यम पर हमलों का सिलसिला जारी रखा और सरकार और भाजपा के उनके बयानों से खुद को अलग करने का भी उन पर कोई असर नहीं हुआ।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, 'उन्हें जो कहना है, कहने दें-जेटली क्या कहते हैं, उससे मुझे कोई लेना-देना नहीं है। मैं पार्टी अध्यक्ष या प्रधानमंत्री से बात कर सकता हूं।' इससे पहले सुबह स्वामी ने सुब्रह्मण्यम पर निशाना साधना जारी रखा। उन्होंने कहा कि अगर सरकार पूर्व में भारत की बांह मरोड़ने के उनके प्रयासों के बावजूद उन्हें देशभक्त मानती है तो वह सुब्रह्मण्यम को बर्खास्‍त करने की मांग को निलंबित कर देंगे।

स्वामी ने गुरुवार को अपने ट्वीट में कहा, 'अगर कोई भारतीय, जिसे देशभक्त माना जाता है, एक दूसरे मुल्क को, जहां वह काम करता है, भारत की बांह मरोड़ने की सलाह देता है, उसे माफ कर दिया जाता है तो मैं अपनी मांग निलंबित कर दूंगा।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

स्वामी ने अपने ट्वीट में कहा, 'एएस (अरविंद सुब्रह्मण्यम) ने अमेरिकी कांग्रेस से कहा कि भारत की कंपनियों और निर्यातकों के खिलाफ भेदभाव करने की अमेरिकी पहल भारत पर अपना बाजार खोलने के लिए दबाव डालेगी। अरविंद सुब्रह्मण्यम ने 13 मार्च 2013 को यह बात कही थी।'

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)