रजनीकांत ने राजनीति में प्रवेश को लेकर दिए पुनर्विचार के संकेत, 'लीक लेटर' को लेकर कही यह बात..

रजनीकांत के करीबी सूत्रों ने बताया कि वे आने वाले दिनों में अपनी पार्टी के पदाधिकारियों के साथ वर्चुअली मीटिंग करेंगे और दिसंबर के अंतिम सप्‍ताह या जनवरी माह की शुरुआत में अपने राजनीति में आने के फैसले के बारे में घोषणा करेंगे.

खास बातें

  • बुधवार को सोशल मीडिया पर एक लेटर सामने आया था
  • इसमें सुपरस्‍टार के स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी जानकारी है
  • रजनी बोले, 'लेटर मेरा नहीं, लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी जानकारी सही'
चेन्‍नई:

सुपरस्‍टार रजनीकांत (Rajinikanth) ने चुनावी राजनीति से जुड़ने को लेकर पुनर्विचार के संकेत दिए हैं. उन्‍होंने कहा कि वे इस में अपना रुख उपयुक्‍त समय पर जाहिर करेंगे. उनका यह बयान सोशल मीडिया पर लीक एक लेटर को लेकर शुरू हुई अटकलों के बीच आया है. कई लोगों का मानना था कि यह लेटर रजनीकांत की ओर से लिखा गया. बहरहाल, रजनीकांत ने एक बयान में कहा है, 'यह लेटर मैैंने नहीं ल‍िखा है  लेकिन इसमें मेरे स्‍वास्‍थ्‍य और डॉक्‍टरों की सलाह के बारे में जो जानकारी दी गई है, वह सही है.' 69 वर्षीय इस सुपरस्‍टार ने कहा, 'मैं 'रजनी मक्‍कल मंदरम' से सलाह करूंगा और अपने राजनीतिक रुख की घोषणा उचित समय पर करूंगा.' गौरतलब है कि पिछले दो सालों में विभिन्‍न सियासी मसलों को लेकर 'रजनी' काफी मुखर रहे हैं लेकिन फिल्‍म इंडस्‍ट्री के उनके सहयोगी कमल हसन के विपरीत राजनीति में उनके औपचारिक प्रवेश में देर होती रही है. कमल हासन की पार्टी के प्रत्‍याशी पिछले लोकसभा चुनाव में मैदान में उतरे थे.  

कोर्ट ने एक्टर राजनीकांत के विवाह घर का संपत्ति कर माफ करने की याचिका खारिज की

रजनीकांत के करीबी सूत्रों ने बताया कि वे आने वाले दिनों में अपनी पार्टी के पदाधिकारियों के साथ वर्चुअली मीटिंग करेंगे और दिसंबर के अंतिम सप्‍ताह या जनवरी माह की शुरुआत में अपने राजनीति में आने के फैसले के बारे में घोषणा करेंगे. 'रजनी' का यह बयान तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव के करीब सात माह पहले आया है. माना जा रहा है कि इन चुनावों से वे चुनावी राजनीति में डेब्‍यू कर सकते हैं. तमिलनाडु के चुनावी रण में उनकी एंट्री को एक्‍स फैक्‍टर के तौर पर लिया जा रहा है, इस राज्‍य में कई फिल्‍म स्‍टार्स ने सियासत के मंच पर सफलता हासिल की है.  

रजनीकांत के फैन ने बताई अंतिम इच्छा तो थलाइवा ने कर डाला यह वादा

गौरतलब है कि राजनीति में आने के फैसले को लेकर रजनीकांत के पुनर्विचार को लेकर चर्चाओं उस समय शुरू हुई थीं जब बुधवार को एक लेटर ऑनलाइन लोगों के सामने आया, इसमें कोरोना वायरस महामारी का जिक्र करते हुए दक्षिण भारतीय फिल्‍मों के सुपरस्‍टार के राजनीति में आने के फैसले को ड्राप करने की बात थी. लेटर में इस बात के संकेत दिए गए थे कि किडनी की हालत के कारण डॉक्‍टरों ने रजनीकांत को मूवमेंट सीमित रखने की सलाह दी है और कोविड-19 के दौर में ऐसे स्थिति से खतरा हो सकता है. डॉक्‍टरों की ओर से कथित तौर पर रजनीकांत को सलाह दी है कि वैक्‍सीन ही कोविड-19 का एकमात्र समाधान है और वे इस बारे में निश्चिंत नहीं है कि सुपरस्‍टार का शरीर इसे 'झेल' पाएगा. मार्च माह में रजनीकांत ने इस बात को दोहराया था कि वे केवल मुख्‍यमंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ना नहीं चाहते. वे सकारात्‍मक बदलाव के लिए राजनीति में आने की इच्‍छा रखते हैं.

Newsbeep

लोकसभा चुनाव: रजनीकांत ने डाला वोट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com