दिल्ली-मथुरा नई रेल लाइन को हरी झंडी: सुप्रीम कोर्ट ने रेलवे को 452 पेड़ों को काटने की सशर्त दी इजाजत

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली से मथुरा के बीच नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए रेलवे को 30 किमी में  452 पेड़ों को काटने की सशर्त इजाजत दे दी है.

दिल्ली-मथुरा नई रेल लाइन को हरी झंडी: सुप्रीम कोर्ट ने रेलवे को 452 पेड़ों को काटने की सशर्त दी इजाजत

सुप्रीम कोर्ट ने रेलवे को 452 पेड़ काटने की दी अनुमती

खास बातें

  • सुप्रीम कोर्ट ने रेलवे को 452 पेड़ों को काटने की सशर्त अनुमती दी
  • उत्तर मध्य रेलवे के पक्ष में अदालत ने दिया आदेश
  • काटे गए पेड़ की जगह रेलवे को लगाने होंगे नये पौधें
नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली से मथुरा के बीच नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए रेलवे को 30 किमी में  452 पेड़ों को काटने की सशर्त इजाजत दे दी है. रेलवे के पक्ष को सुनने के बाद अदालत ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि नई रेलवे लाइन का महत्व है. अदालत ने माना कि दिल्ली-मथुरा मार्ग भारी भीड़भाड़ वाला है इसमें नई रेल लाइन की जरूरत है. कोर्ट ने रेलवे को आदेश दिया है कि पेड़ो की कटाई के बाद उसके जगह पेड़ लगाने की व्यवस्था की जाए साथ ही कोर्ट ने नालसा के सदस्य सचिव को कहा कि वो उत्तर रेलवे द्वारा मुआवजे के रूप में लगाए गए पेड़ों का निरीक्षण करने के लिए साइट पर जाने के लिए एक अधिकारी की नियुक्ति करे और देखे कि क्या पौधों का समुचित देखभाल किया जा रहा है या नहीं? साथ ही पौधों की कटाई होने के बाद उसकी जगह फिर से पौधा लगाया जाए. साथ ही अदालत ने इस मामले में तीन महीने के भीतर स्टेटस रिपोर्ट देने का भी आदेश दिया है.

निर्भया के दोषी की SC में दलील- दिल्ली में प्रदूषण का बुरा हाल, पानी भी जहरीला...जिंदगी छोटी हो ही रही फिर फांसी क्यों?

Newsbeep

गौरतलब है कि TTZ में पेड़ काटने के मामले में पिछली सुनवाई में उत्तर मध्य रेलवे से CJI एसए बोबडे ने कहा था कि आपको पेड़ क्यों काटने हैं? क्या आप एक वैकल्पिक मार्ग नहीं खोज सकते जहां आप कम पेड़ काटें? बता दें कि उत्तर मध्य रेलवे ने दिल्ली से मथुरा के बीच चौथी रेलवे लाइन बिछाने के लिए ताज ट्रेपेज़ियम ज़ोन में पेड़ काटने की अनुमति मांगी थी. गौरतलब है कि हाल ही में मेट्रो परियोजना के लिए आरे जंगल में पेड़ो की कटाई के बाद देश भर में विरोध का सामना करना पड़ा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: मर गए आरे में ट्रांसप्लांट किए गए 61 फीसदी पेड़!