NDTV Khabar

TOP 5 NEWS: उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार की चिट्ठी पर SC कल करेगा सुनवाई, नदी किनारे मिला CCD के फाउंडर का शव

कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव बुधवार को नेत्रावती नदी किनारे पर मिला है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
TOP 5 NEWS: उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार की चिट्ठी पर SC कल करेगा सुनवाई, नदी किनारे मिला CCD के फाउंडर का शव
नई दिल्ली:

उन्नाव गैंगरप पीड़िता के परिवार की ओर से सीजेआई को लिखी गई चिट्ठी पर सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को सुनवाई करेगा. सीजेआई रंजन गोगोई ने खुली अदालत में कहा कि मैंने अखबार में पढ़ा है कि पीड़ित परिवार ने मुझे कोई खत लिखा है. मेरे पास यह खत मंगलवार को आया. मैंने अभी तक देखा नहीं है. वहीं कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ (V G  Siddhartha) का शव बुधवार को नेत्रावती नदी किनारे पर मिला है. भारत में कॉफी रेस्तरां के सबसे बड़े चेन ‘कैफे कॉफी डे' के संस्थापक वी. जी. सिद्धार्थ कर्नाटक के तटीय शहर मंगलुरु जाने के दौरान रास्ते से सोमवार रात से लापता थे. उधर दिल्ली में बिजली पर फिक्स चार्ज घटा दिए गए हैं. दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (DERC) के चेयरमैन जस्टिस एसएस चौहान ने बताया कि 2 किलोवाट तक 20 रुपये प्रति किलोवाट शुल्क होगा जो कि अब तक 125 रुपये प्रति किलोवाट था. दूसरी तरफ 1200 यूनिट से अधिक खपत पर प्रति यूनिट शुल्क बढ़ाया गया है. अब तक यह 7.75 रुपये था जो अब 8 रुपये प्रति यूनिट किया गया है. वहीं मेडिकल दाखिला घोटाले में शामिल होने के प्रमाण मिलने के बाद इलाहाबाद हाइकोर्ट के जज एसएन शुक्ला के खिलाफ CJI रंजन गोगोई ने सीबीआई को FIR दर्ज करने की अनुमति दे दी है.  दूसरी ओर राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास होने के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा कि तीन तलाक विधेयक को 2014 में भाजपा नीत राजग (NDA) सरकार के सत्ता में आने के बाद से 'मुस्लिम अस्मिता' पर हुए कई हमलों के महज एक हिस्से के रूप में देखा जाना चाहिए. ओवैसी ने आरोप लगाया कि विधेयक मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है और यह उन्हें और अधिक हाशिए पर धकेलेगा.

उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार की ओर से CJI को लिखी गई चिट्ठी पर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई
उन्नाव गैंगरप (Unnao Rape Case) पीड़िता के परिवार की ओर से सीजेआई को लिखी गई चिट्ठी पर सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को सुनवाई करेगा. सीजेआई रंजन गोगोई ने खुली अदालत में कहा कि मैंने अखबार में पढ़ा है कि पीड़ित परिवार ने मुझे कोई खत लिखा है. मेरे पास यह खत मंगलवार को आया. मैंने अभी तक देखा नहीं है. सुप्रीम कोर्ट इस पर कल सुनवाई करेगा. वहीं, न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक सीजेआई रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री से जवाब मांगा है कि उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार की ओर से 12 जुलाई को लिखे गए खत को उनके सामने लाने में देरी क्यों हुई. 

14r1o6pg

बता दें, उन्नाव बलात्कार कांड पीड़ित के कार दुर्घटना में बुरी तरह जख्मी होने से कुछ दिन पहले ही उसके परिजनों ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को पत्र लिखकर इस मामले के आरोपियों द्वारा कथित रूप से धमकी दिये जाने और उनसे अपनी जान को खतरे की आशंका व्यक्त की थी. पिछले रविवार को बलात्कार पीड़ित और उसके परिवार के सदस्यों को ले जा रही कार को रायबरेली में एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें पीड़ित की मौसी और चाची की मौत हो गई. इस हादसे में बलात्कार पीड़ित और वकील बुरी तरह जख्मी हो गये.

CCD के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव नदी किनारे मिला, दो दिन से थे लापता
कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव बुधवार को नेत्रावती नदी किनारे पर मिला है. भारत में कॉफी रेस्तरां के सबसे बड़े चेन ‘कैफे कॉफी डे' के संस्थापक वी. जी. सिद्धार्थ कर्नाटक के तटीय शहर मंगलुरु जाने के दौरान रास्ते से सोमवार रात से लापता थे. वहीं उनके द्वारा कथित रूप से लिखे एक पत्र में कहा गया है कि उन पर कर्जदाताओं का ‘भारी दबाव' था. सिद्धार्थ का पता लगाने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), तटरक्षक, होमगार्ड, अग्निशमन विभाग एवं तटीय पुलिस की टीमों ने उस पुल के नीचे नेत्रावती नदी के पानी में तलाश की जहां 60 वर्षीय सिद्धार्थ को आखिरी बार देखा गया था. पुलिस के अनुसार कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस. एम. कृष्णा के दामाद सिद्धार्थ को दक्षिण कन्नड़ जिले के कोटेपुरा इलाके में नेत्रावती नदी के पुल के पास सोमवार रात देखा गया था.

k2r2c94o

स्थानीय मछुआरे भी अपनी नौकाओं के साथ तलाश अभियान में शामिल किए गए थे. सिद्धार्थ सोमवार की दोपहर बेंगलुरु से हासन जिले के सक्लेशपुर के लिए निकले थे लेकिन अचानक उन्होंने अपने कार चालक से मंगलुरु चलने को कहा. पुलिस ने बताया कि नेत्रावती नदी पर बने पुल के पास वह कार से उतर गए और उन्होंने चालक से कहा कि वह टहलने जा रहे हैं. 

दिल्ली में बिजली की दरों में किया गया बदलाव, फिक्स चार्ज घटाए गए
दिल्ली में बिजली पर फिक्स चार्ज घटा दिए गए हैं. दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग  के चेयरमैन जस्टिस एसएस चौहान ने बताया कि 2 किलोवाट तक 20 रुपये प्रति किलोवाट शुल्क होगा जो कि अब तक 125 रुपये प्रति किलोवाट था. दूसरी तरफ 1200 यूनिट से अधिक खपत पर प्रति यूनिट शुल्क बढ़ाया गया है. अब तक यह 7.75 रुपये था जो अब 8 रुपये प्रति यूनिट किया गया है.

ns3fo64o

चौहान ने बताया कि 2 से 5 किलोवाट तक के लिए फिक्स चार्ज अब तक 140 रुपये प्रति किलोवाट था जो कि 50 रुपये प्रति किलोवाट किया गया है. अब तक 5 से 15 किलोवाट के कनेक्शन पर 175 रुपये प्रति किलोवाट शुल्क था जो कि 100 रुपये प्रति किलोवाट कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि 15 से 25 किलोवाट तक के लिए शुल्क में कोई बदलाव नहीं किया गया है. यह पूर्ववत 200 रुपये किलोवाट लगेगा.

मेडिकल दाखिला घोटाला:  HC के जज के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए CJI ने दी CBI को मंजूरी
मेडिकल दाखिला घोटाले में शामिल होने के प्रमाण मिलने के बाद इलाहाबाद हाइकोर्ट के जज एसएन शुक्ला के खिलाफ CJI रंजन गोगोई ने सीबीआई को FIR दर्ज करने की अनुमति दे दी है.  इससे पहले चीफ जस्टिस ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इस मामले में संसद में कार्रवाई करने के लिए भी कहा था. पिछले CJI दीपक मिश्रा ने शिकायत के बाद तीन जजों की कमेटी बनाई थी, जिसने जांच में जस्टिस शुक्ला का हाथ माना था. इसके बाद जस्टिस शुक्ला से न्यायिक कार्य वापस ले लिया गया था.

4oqfhgso

तत्कालीन CJI मिश्रा ने उन्हें इस्तीफा देने या स्वैच्छिक सेवानिवृति लेने को कहा था लेकिन जस्टिस शुक्ला ने इससे इनकार कर दिया था. बाद में जस्टिस शुक्ला ने न्यायिक कार्य वापस देने के लिए CJI से गुजारिश की थी जिसे ठुकरा दिया गया था. किसी वर्तमान जज के खिलाफ बिना CJI की अनुमति FIR दर्ज नहीं हो सकती इसलिए CBI ने CJI को लिखकर अनुमति मांगी थी. 

टिप्पणियां

तीन तलाक बिल पास होने के बाद AIMIM प्रमुख ओवैसी का मोदी सरकार पर हमला
राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास होने के बाद AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी  ने केंद्र की BJP सरकार पर जमकर हमला बोला. एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि तीन तलाक विधेयक को 2014 में भाजपा नीत राजग (NDA) सरकार के सत्ता में आने के बाद से 'मुस्लिम अस्मिता' पर हुए कई हमलों के महज एक हिस्से के रूप में देखा जाना चाहिए. ओवैसी ने आरोप लगाया कि विधेयक मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है और यह उन्हें और अधिक हाशिए पर धकेलेगा.

edv4gn9o

हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ने ट्वीट किया, 'तीन तलाक विधेयक को 2014 से मुस्लिम अस्मिता तथा नागरिकता पर हुए कई हमलों के महज एक हिस्से के रूप में देखा जाना चाहिए.' उन्होंने कहा, 'भीड़ हिंसा, पुलिस की ज्यादती और बड़े पैमाने पर जेल में डालना हमें नहीं रोक पाएगा. संविधान में हमारा दृढ विश्वास है. हमने अत्याचार, नाइंसाफी और अधिकारों से वंचित किए जाने को सहा है.'
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement