असम में NRC मामला: सुप्रीम कोर्ट ने दावों और आपत्तियों की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ाई

असम में NRC मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को दावे और आपत्तियों  की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ा दी है.

असम में NRC मामला:  सुप्रीम कोर्ट ने दावों और आपत्तियों की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ाई

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो).

खास बातें

  • सुप्रीम कोर्ट ने दावे और आपत्तियों की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ाई
  • कोर्ट ने 15 दिसंबर की डेडलाइन को 31 दिसंबर 2018 तक बढ़ाई
  • असम सरकार ने डेडलाइन एक महीने बढाने की मांग की थी
नई दिल्ली:

असम में NRC मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को दावे और आपत्तियां दर्ज कराने की डेडलाइन 31 दिसंबर तक बढ़ा दी है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए 15 दिसंबर तक आखिरी तारीख निर्धारित की थी. असम सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में इस डेडलाइन को एक महीने तक बढ़ाने की मांग की थी. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने दावे आपत्तियों की वैरीफिकेशन की डेडलाइन भी 1 फरवरी से बढ़ाकर 15 फरवरी तक कर दी है . एनआरसी कॉर्डिनेटर प्रतीक हजेला ने कोर्ट को बताया कि अभी तक 40 लाख लोगों में से 14.8 लाख लोगों के दावे व आपत्ति प्राप्त किए गए हैं.

NRC पर अमित शाह बोले: भारत कोई धर्मशाला नहीं, जहां कोई भी अवैध तरीके से आकर बस जाए

इससे पहले असम NRC मामले में सुप्रीम कोर्ट ने NRC ड्राफ्ट में जगह न पा सके 40 लाख लोगों को दावे और आपत्ति दाखिल करने के लिए 15 दिसंबर तक वक्त दिया था. पहले ये मियाद 25 नवंबर थी. सुप्रीम कोर्ट ने लोगों को नागरिकता साबित करने के लिए 5 और दस्तावेजों के इस्तेमाल की इजाज़त दी. पहले सिर्फ 10 दस्तावेजों को मान्यता दी थी. 

सुप्रीम कोर्ट ने असम में NRC पर आपत्तियां दर्ज कराने की डेडलाइन बढ़ाई, 5 और दस्तावेजों को दी मंजूरी

Newsbeep

चीफ जस्टिस ने NRC कोऑर्डिनेटर प्रतीक हजेला के अतिरिक्त दस्तावेजों को मंज़ूरी ना देने के प्रस्ताव को खारिज करते हुए कहा था कि आपके प्रस्ताव तो सही लोगों को भी दावा नहीं करने देंगे.   

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: NRC में जिनके नाम नहीं, उन्हें दीमक कहना उचित?