NDTV Khabar

बाढ़ राहत पीड़ितों की मदद के लिए आयोजित कार्यक्रम में गाना गाएंगे जस्टिस केएम जोसेफ

केरल में बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति केएम जोसेफ (Justice KM Joseph) गाना गाएंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाढ़ राहत पीड़ितों की मदद के लिए आयोजित कार्यक्रम में गाना गाएंगे जस्टिस केएम जोसेफ

जस्टिस केएम जोसेफ. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों की तरफ से केरल के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में योगदान दिए जाने के बाद अब बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में सोमवार को शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति केएम जोसेफ (Justice KM Joseph) गाना गाएंगे. मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे, जहां न्यायमूर्ति जोसेफ दो गीत गाएंगे, जिसमें एक मलयाली और एक हिंदी गीत होगा. यह कार्यक्रम सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकारों की तरफ से आयोजित किया गया है.

यह भी पढ़ें : बाढ़ से तबाह केरल को उबारने में मोदी सरकार ने झोंकी ताकत, केंद्र ने अब तक क्या-क्या किया, जानें पूरी डिटेल

इतिहास की शायद यह पहली घटना होगी, जब सुप्रीम कोर्ट का कोई न्यायाधीश किसी कार्यक्रम में गाना गाएगा. इस कार्यक्रम में पाश्र्वगायक मोहित चौहान भी प्रस्तुति देंगे. इंडियन सोसायटी फॉर इंटरनेशनल लॉ के ऑडिटोरियम में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में भद्रा सिन्हा और गौरीप्रिय एस. भरतनाट्यम प्रस्तुति देंगे. भद्रा सिन्हा भी पत्रकार हैं और सर्वोच्च न्यायालय कवर करती हैं. उदीयमान शास्त्रीय नर्तक कीर्तन हरीश भी एक नृत्य प्रस्तुति देंगी. 


यह भी पढ़ें : केरल में बाढ़ के बाद बीएसएफ चिकित्सक पीड़ितों के इलाज में जुटे

टिप्पणियां

बता दें कि केरल में बारिश व बाढ़ की विभीषिका में अब तक 417 लोग जान गंवा चुके हैं. मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि सैकड़ों लोग राहत शिविरों से घरों को लौट रहे हैं, फिर भी अभी 8.69 लाख लोग 2,787 राहत शिविरों में हैं. विजयन ने मीडिया से कहा कि 29 मई से मॉनसून की बारिश शुरू होने से मौतें होनी शुरू हो गईं थीं, लेकिन 8 अगस्त से 265 लोगों के मौत होने की सूचना है, जब मूसलाधार बारिश की वजह से राज्य में भयावह बाढ़ आ गई. केरल में यह सदी की सबसे भयावह बाढ़ है.

(इनपुट: IANS)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement