NDTV Khabar

30 साल पुराना रोडरेज का मामला: सिद्धू की सजा बरकरार रहेगी या नहीं, SC ने फैसला सुरक्षित रखा

30 साल पुराने रोडरेज के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू व इनके साथी रुपिंदर सिंह संधू की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
30 साल पुराना रोडरेज का मामला: सिद्धू की सजा बरकरार रहेगी या नहीं, SC ने फैसला सुरक्षित रखा

नवजोत सिंह सिद्धू की फाइल फोटो

खास बातें

  1. सिद्धू और उनके साथ रुपिंदर सिंह संधू की याचिका पर फैसला सुरक्षित
  2. हाईकोर्ट ने सिद्धू को तीन साल की सजा सुनाई थी
  3. सिद्धू ने याचिका में कहा था कि वह निर्दोष हैं, उन्हें फंसाया गया है
नई दिल्ली: 30 साल पुराने रोडरेज के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू व इनके साथी रुपिंदर सिंह संधू की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि सिद्धू की सजा बरकरार रहेगी या नहीं. इस मामले में हाईकोर्ट ने सिद्धू को तीन साल की सजा सुनाई थी जिसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी. 

जय शाह और पत्रकार रोहिणी को SC ने कोर्ट के बाहर समझौता करने का दिया सुझाव, द वायर ने किया इंकार

सिद्धू ने याचिका में कहा था कि वह निर्दोष हैं, उन्हें फंसाया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को 24 अप्रैल तक लिखित जवाब दाखिल करने को कहा था. मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान सिद्धू की तरफ से कहा गया कि इस मामले में कोई भी गवाह खुद से सामने नहीं आया, जिन भी गवाहों के बयान दर्ज किए गए है उनको पुलिस सामने लाई थी. गवाहों के बयान विरोधाभासी है, जो भी मुख्य गवाह है उनके बयान एक दूसरे से अलग है.

टिप्पणियां
अमनमणि त्रिपाठी की जमानत रहेगी बरकरार, SC ने बेल रद्द करने वाली याचिका खारिज की

गाड़ी से सिद्धू की चाभी निकालने की बात भी सही नहीं. सिद्धू की तरफ से कहा गया क्या वो मेडिकल एक्सपर्ट थे जो उनको पता था कि इनकी हालात गंभीर है और तुरंत हॉस्पिटल न पहुंचने पर उनकी मौत हो जाएगी.
पिछली सुनवाई में पंजाब सरकार की तरफ से बहस पूरी हो गई. पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा हाई कोर्ट के फैसले को बहाल रखा जाए. हाईकोर्ट ने 3 साल की सजा सुनाई थी. सिद्धू को जानबूझकर कर नहीं फंसाया गया. ऐसा कोई सबूत नही कि पीड़ित की मौत हार्ट अटैक से हुई. सरकार ने तीन साल की सज़ा को सही बताया. 

VIDEO: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'आधार कार्ड' से हो सकते हैं चुनावी नतीजे प्रभावित 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement