NDTV Khabar

NDTV के खुलासे के बाद आज सुप्रीम कोर्ट हापुड़ मॉब लिंचिंग घटना के पीड़ित की याचिका पर करेगा सुनवाई

याचिका में आरोपियों की ज़मानत रद्द करने की मांग की गई है. साथ ही मामले का ट्रायल उत्तर प्रदेश से बाहर करवाए जाने की भी मांग की गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV के खुलासे के बाद आज सुप्रीम कोर्ट हापुड़ मॉब लिंचिंग घटना के पीड़ित की याचिका पर करेगा सुनवाई

हमले में 65 सल के सैमुद्दीन को गंभीर चोटें आई थीं

नई दिल्ली: NDTV इंडिया के स्टिंग ऑपरेशन के आधार पर हापुड़ में लिंचिंग के पीड़ित और अहम गवाह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनवाई करेगा. पीड़ित समयुद्दीन ने याचिका दायर कर अपील की है कि कोर्ट की निगरानी में एसआईटी जांच कराई जाए. साथ ही एसआईटी में यूपी के बाहर के अफ़सरों के होने की भी मांग की गई है. याचिका में आरोपियों की ज़मानत रद्द करने की मांग की गई है. साथ ही मामले का ट्रायल उत्तर प्रदेश से बाहर करवाए जाने की भी मांग की गई है. याचिका में कहा गया है कि मजिस्ट्रेट के सामने गवाह का बयान दर्ज हो और आरोपियों की शिनाख़्त परेड कराई जाए.  आरोपी ने ख़ुफ़िया कैमरे पर लिंचिंग में शामिल होने की बात क़बूली थी साथ ही उसने ये भी बताया था कि किस तरह कोर्ट में ग़लतबयानी कर उसे ज़मानत मिल गई. पड़ताल में पुलिस जांच में भी कई खामियां नज़र आई थीं. पुलिस एफ़आईआर में इसे रोड रेज का मामला बताया गया था. 

NDTV EXCLUSIVE: हापुड़ मॉब लिंचिंग का आरोपी बोला, मरते कासिम को मैंने पानी नहीं दिया, क्‍योंकि उसने मरती गाय को पानी नहीं दिया

टिप्पणियां
आपको बता दें कि एनडीटीवी की टीम हापुड़ के बजेड़ा खुर्द गांव में आरोपी युद्धिष्ठिर सिंह सिंसोदिया से मिलने गई थी. सिसोदिया ने कोर्ट में बयान दिया है कि उसकी हमले में कोई भूमिका नहीं है और वह घटनास्थल पर भी मौजूद नहीं था. लेकिन उसने एनडीटीवी की टीम से बातचीत कहा कि उसने इस घटना में शामिल होने की बात जेल अधिकारियों को भी बताई थी. उसकी यह बात कैमरे में रिकॉर्ड कर ली गई थी.  सिसोदिया ने कहा, हां, मैंने बोला कि वो गाय काट रहे थे, मैंने उसको काट दिया...जेलर के सामने..
खबर का असर: NDTV के स्टिंग को सबूत की तरह पेश करेगी पुलिस​


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement