NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट में आज फैसलों का दिन : आधार की वैधता सहित इन बड़े मामलों में कोर्ट सुनाएगा फैसला

उच्चतम न्यायालय बुधवार को कई महत्वपूर्ण मामलों में अपने निर्णय सुना सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुप्रीम कोर्ट में आज फैसलों का दिन : आधार की वैधता सहित इन बड़े मामलों में कोर्ट सुनाएगा फैसला

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सुप्रीम कोर्ट में आज फैसलों का दिन
  2. आधार की वैधता पर फैसला सुनाएगा कोर्ट
  3. अदालती कार्यवाही का सीधा प्रसारण मामले पर भी आ सकता फैसला
नई दिल्ली:

उच्चतम न्यायालय बुधवार को कई महत्वपूर्ण मामलों में अपने निर्णय सुना सकता है. इन मामलों में केन्द्र की प्रमुख योजना आधार की वैधता, अदालती कार्यवाही का सीधे प्रसारण और अनुसूचित जाति-जनजाति कर्मचारियों की पदोन्नति में आरक्षण से जुड़े मामले शामिल हैं. केंद्र के महत्वपूर्ण आधार कार्यक्रम और इससे जुड़े 2016 के कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली कुछ याचिकाओं पर बुधवार को उच्चतम न्यायालय अपना महत्वपूर्ण फैसला सुना सकता है. प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के नेतृत्व में पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने 38 दिनों तक चली लंबी सुनवाई के बाद 10 मई को मामले पर फैसला सुरक्षित रख लिया था. 

BJP नेता के खिलाफ अहमद पटेल की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला


मामले में उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश के एस पुत्तास्वामी की याचिका सहित कुल 31 याचिकाएं दायर की गयी थीं. उच्चतम न्यायालय देश भर में अदालती कार्यवाही के सीधे प्रसारण या वीडियो रिकार्डिंग दिखाने की अनुमति देने संबंधी विभिन्न याचिकाओं पर बुधवार को अपना निर्णय सुना सकता है. प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एम एम खानविल्कर और न्यायमूर्ति डी वाई चन्द्रचूड़ की पीठ ने 24 अगस्त को इस मुद्दे पर अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया था. पीठ का कहना है कि वह अदालतों में भीड़भाड़ को कम करने के लिए ‘खुली अदालत’ की परिकल्पना को लागू करना चाहती है.    

SC on Aadhaar: स्कूलों में एडमिशन और UGC, NEET, CBSE परीक्षाओं के लिए आधार अनिवार्य नहीं

टिप्पणियां

उच्चतम न्यायालय उन याचिकाओं पर भी फैसला सुना सकता है, जिनमें न्यायालय के 2006 के आदेश पर पुनर्विचार के लिए सात सदस्यीय पीठ गठित करने का अनुरोध किया गया है. 2006 के फैसले में अजा-अजजा कर्मचारियों की नौकरी में पदोन्नति में आरक्षण का लाभ देने के लिए कुछ शर्तें लगायी गयी थीं. इस मामले में प्रधान न्यायाधीश मिश्र की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ बुधवार फैसला सुना सकती है. सर्वोच्च न्यायालय बुधवार को इस प्रश्न पर भी अपना निर्णय सुना सकता है कि अपीलीय अदालत द्वारा किसी अयोग्य ठहराये गये जनप्रतिनिधि की दोष सिद्धि पर लगायी गयी रोक से क्या सदन में उसकी सदस्यता बहाल हो जाएगी.    

VIDEO: दागी नेताओं को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत
प्रधान न्यायाधीश मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मामले में अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया था. इस मामले में गैर सरकारी संगठन लोक प्रहरी ने याचिका दायर की थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement