NDTV Khabar

IAF ने जैश के बड़े आतंकी कैंपों को किया नेस्तनाबूद, 300 से ज्यादा आतंकी ढेर, जानें अब तक क्या-क्या हुआ

भारतीय वायुसेना (indian air force) के इस कार्रवाई का सभी राजनीतिक पार्टियों ने स्वागत किया है और सेना को बधाई दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. भारतीय वायुसेना ने पीओके में स्थित आतंकी ठिकानों पर किया हमला
  2. देर रात की गई कार्रवाई
  3. पाक पीएम ने की बैठक
नई दिल्ली:

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उनकी कमर तोड़ दी है. पीओके के आतंकी कैंप पर (Air strike on Terrorist Camp)भारतीय वायुसेना (indian air force) ने हवाई हमला किया और आतंकी कैम्पों को तबाह कर दिया. सरकारी सूत्रों के अनुसार वायुसेना की इस बड़ी कार्रवाई में करीब 300 आतंकवादी मारे गए हैं और इसमें जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर भी मारा गया है जो यह कैंप चला रहा था. भारतीय वायुसेना (indian air force) को इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम देने में 12 मिराज फाइटर जेट का सहारा लेना पड़ा. इतना ही नहीं, करीब 1000 किलो बम भी बरसाए गए. भारतीय वायुसेना (indian air force) के इस कार्रवाई का सभी राजनीतिक पार्टियों ने स्वागत किया है और सेना को बधाई दी है. हालांकि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने इस कार्रवाई के बाद एक हाई लेवल मीटिंग बुलाई, जिसमें हालात को लेकर चर्चा की गई. आइये जानते हैं सोमवाद देर रात भारतीय सेना की इस कार्रवाई के बाद से लेकर अब तक क्या क्या-हुआ है..

जब भारतीय वायुसेना कर रहा था आतंकी कैंपों को नेस्तनाबूद, उस वक्त कहां और क्या कर रहे थे पीएम मोदी


वायुसेना ने सोमवार देर रात की कार्रवाई
पुलवामा हमले का जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना ने सोमवार की देर रात 3.30 बजे (मंगलवार सुबह 3.30 बजे) के करीब भारतीय वायुसेना के 12 मिराज विमानों ने पीओके के पार जाकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर हमला बोला. यह हमला पूरी तरह से सफल हुआ है. इस हवाई हमले में जैश के सभी आतंकी कैंप नष्ट हो गए. बताया यह भी जा रहा है कि इन कैंपों में लश्कर और हिज्बुल के भी कैंप शामिल थे. वायुसेना ने तीन आतंकी कैंप तबाह किए. इस हमले में करीब 1000 किलो बम का इस्तेमाल किया गया.  भारतीय वायुसेना का पूरा ऑपरेशन बमुश्किलन 20 मिनट चला और सारे विमान सुरक्षित लौट आए. कहीं खरोंच तक नहीं लगी.


विदेश सचिव ने हमले की पुष्टि की

भारतीय वायुसेना द्वारा पीओके में स्थित आतंकी कैंपों पर हमले की खबरों की पुष्टि करते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने एक प्रेस वार्ता की. उन्होंने बताया कि खुफिया जानकारी मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद भारत में फिर फिदायीन आतंकवादी हमलों की साज़िश रच रहा है, इसलिए उसे रोकने के लिए हमला करना ज़रूरी हो गया था. उन्होंने बताया, "बालाकोट का कैम्प जैश-ए-मोहम्मद का सबसे बड़ा कैम्प था... इसे जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर संचालित कर रहा था, जो मारा गया है... ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो..." उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन पूरी तरह आतंकियों के खिलाफ था, न की कोई मीलिट्री ऑपरेशन. 

12 मिराज, 1000 किलो बम, 20 मिनट का ऑपरेशन और 300 आतंकी ढेर, 10 बड़ी बातें

हमले की खबरों के बीच बैठक
आतंकी कैंप पर हमले की खबरों के बीच प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में मंगलवार सुबह 9:30 बजे केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई. इस बैठक में PM व गृहमंत्री के अलावा विदेशमंत्री सुषमा स्वराज, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, वित्तमंत्री अरुण जेटली तथा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोवाल भी शामिल थे. इस बैठक में हमले के बाद के हालात को लेकर चर्चा की गई. 

भारत ने राजनयिकों से की मुलाकात
भारत ने पुलवामा हमले के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय सुमदाय में पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए भारत में मौजूद दुनिया भर के तमाम राजदूतों और राजनयिकों से मुलाकात की थी. मंगलवार को पीओके में वायुसेना की कार्रवाई के बाद भी भारत के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने तमाम देशों के राजनयिकों को मिलने बुलाया और उन्हें हमले से जुड़ी जानकारी दी. सूत्रों के अनुसार इस मुलाकात के दौरान भारत ने उन तमाम देशों को यह बताया कि नॉन मिलिट्री एक्शन था. इसमें सिर्फ और सिर्फ आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया गया है. 

Surgical Strike2 Timeline: जानें कितने बजे और कहां-कहां वायुसेना ने आतंकियों के कैंप किए ध्वस्त

हमले का सभी पार्टियों ने किया स्वागत
आतंकी संगठनों पर भारतीय वायुसेना के हमले का देश की तमाम पार्टियों ने स्वागत किया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना की इस कार्रवाई के बाद उन्हें सलाम किया. उन्होंने लिखा- मैं भारतीय वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं. बता दें कि पहली बार भारतीय वायुसेना ने एलओसी पार की और इतने बड़े हमले को अंजाम दिया.

 

 

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को पाकिस्तान के भीतरी हिस्सों में हवाई हमले करने के लिए भारतीय वायुसेना (IAF) के पायलटों की सराहना की. उन्होंने कहा कि  ‘मैं भारतीय वायु सेना के पायलटों की बहादुरी को सलाम करता हूं जिन्होंने पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को निशाना बना कर हमें गौरवान्वित किया है.'    

 

 

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पाकिस्तान के भीतरी हिस्से में भारतीय वायु सेना के हवाई हमले की मंगलवार को सराहना की और कहा कि पूरा राष्ट्र सशस्त्र बलों के साथ खड़ा है. ‘देश की सुरक्षा के लिए यह एक आवश्यक कदम था...यह महा पराक्रम की एक कार्रवाई है.' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के मद्देनजर बलों को आवश्यक कदम उठाने के लिए पहले ही छूट दे दी थी. 

पीएम ने रैली में इशारों में दिया जवाब
पीओके में आतंकियों के खिलाफ एयर फोर्स की कार्रवाई के बाद राजस्थान के चुरु में पीएम मोदी ने कहा कि आज आपका मिजाज कुछ और लग रहा है. सबसे पहले मेरे साथ दोनों मुट्ठी बंद कर पूरी ताकत से बोलिए- 'भारत माता की जय'. पीएम मोदी ने कहा कि आपका ये जोश मैं भलीभांति समझ रहा हूं. आज एक ऐसा पल है जिसमें हम सभी आएं और भारत के पराक्रमी वीरों को सिर झुकाकर नमन करें. आज चुरु की धरती से देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि देश सुरक्षित हाथों में है. पीएम मोदी ने कहा कि मैंने 2014 में कहा था कि देश नहीं झूकने दूंगा, मगर आज फिर कह रहा हूं कि मैं देश नहीं झूकने दूंगा. पीएम मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए फिर से कविता सुनाई और कहा- 
 

सौगंध मुझे है इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा
मैं देश नहीं रुकने दूंगा, मैं देश नहीं झुकने दूंगा.
मेरा वचन है भारत मां को, तेरा शीष झुकने नहीं दूंगा
जाग रहा है देश मेरा, हर भारतवासी जीतेगा
सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नहीं मिटने दूंगा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि देश से बढ़कर कुछ नहीं होता. देश की सेवा करने वाले लोगों को आज के अहम दिन एक बार फिर से प्रधानसेवक नमन करता है. आजादी के 70 साल बाद राष्ट्र रक्षा के लिए हमारे अमर शहीदों की याद में देश के राष्ट्रीय वॉर मेमोरियल समर्पित किया गया. राजस्थान और खासकर सीकर, चुरु के लिए ये इसलिए भी अहम है, क्योंकि आप सबने देश को अनेक सपूत समर्पित किए हैं. 

कुमार विश्वास ने किया ट्वीट 

पीओके के आतंकी कैंपों पर भारतीय वायुसेनी की कार्रवाई के बाद देशभर में नेताओं से लेकर अभिनेताओं तक के बयान आ रहे हैं. सभी वायुसेना के हौसले को सलाम कर रहे हैं. इसी कड़ी में डॉ. कुमार विश्वास (Dr Kumar Vishvas) ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए एयरफोर्स को सलाम तो किया ही है, साथ ही पाकिस्तान को चेतावनी भी दी है. कुमार विश्वास ने अपने ट्वीट में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को टैग करते हुए लिखा है, ''अब तो आप भी दिमाग ठिकाने लगा लें या ठिकाना बदल लें, क्योंकि हमारी एयरफोर्स और सेना का ठिकाना नहीं है. विश्वास न हो तो घर के बुजुर्गों से पता कर लें''.

 

 


डॉ. कुमार विश्वास (Dr Kumar Vishvas) ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, ''कई दिनों से बालाकोट वाले भारतीय टमाटरों के लिए रो-पीट रहे थे, इंडियन एयरफोर्स ने रात हज़ार टन की पहली खेप जैश के कंट्रोल रूम को दे दी है. अमन का सफ़ेद रंग तो आपको समझ नहीं आता. सो उम्मीद है कि ये लाल रंग पसंद आया होगा. जितना मांगोगे उतना टमाटर भेजेगें''. कुमार विश्वास ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगने वालों पर तंज भी किया है. उन्होंने लिखा है, '' इस बार सर्जिकल स्ट्राइक-2 का कोई सबूत मांगे तो एयरफोर्स से अनुरोध है कि आपने जैसा हज़ार टन का सबूत पाकिस्तान को दिया है वैसा ही सौ-दो सौ ग्राम ऐसे लोगों को भी दे दें''. कुमार विश्वास ने सेना की तरफ से ट्वीट की गई दिनकर की कविता भी री-ट्वीट की है. 

 

 


शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- हम पीएम के साथ हैं

शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने प्रधानमंत्री मोदी को टैग करते हुए ट्वीट किया, ''इस समय पूरा देश आपके साथ खड़ा है. हम सभी आपके साथ हैं और आपको पूरा सपोर्ट है''. आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना (indian air force) की इस बड़ी कार्रवाई पर विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि 14 फरवरी को जैश ए मोहम्मद ने सीआरपीएफ पर फिदायीन हमला किया था. ये संगठन पाकिस्तान में दो दशक से सक्रिय है. पाकिस्तान को उनके कैंप के बारे में लगातार जानकारी दी जाती रही है, लेकिन उन्होंने इनकार किया है. उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया. 

 

 

उन्होंने कहा कि हमें सूचना मिली कि वे देश में और फिदायीन हमले कर सकते हैं. इसके बाद भारत ने बालाकोट में जैश के कैंप पर कार्रवाई की. जिसमें जैश के आतंकी और ट्रेनर ढेर हुए हैं. जैश कमांडर युसूफ अजहर भी मारा गया, वही यह कैंप चल रहा था. उन्होंने कहा कि भारत सरकार आतंकवाद से लड़ने के लिए दृढ़संकल्प है. विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि एयरफोर्स के ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो..." उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन पूरी तरह आतंकियों के खिलाफ था, न की कोई मीलिट्री ऑपरेशन. 

 

हमले के बाद पाकिस्तान के पीएम ने बुलाई बैठक- 

भारतीय वायुसेना (IAF) की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की नेशनल सिक्योरिटी कमेटी ने PM इमरान खान (Imran Khan) की अध्यक्षता में बैठक की. बैठक में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने अपने सशस्त्र बलों, नागरिकों से 'हर तरह के हालात के लिए तैयार रहने' को कहा है. बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए उनकी कमर तोड़ दी है. पीओके के आतंकी कैंप पर (Air strike on Terrorist Camp) भारतीय वायुसेना (indian air force) ने हवाई हमला किया और उसके सारे कैंपों को तबाह कर दिया.

VIDEO: प्रकाश जावेड़कर ने कहा सेना ने दिखाया पराक्रम.

 

टिप्पणियां

 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement