NCB को सुशांत सिंह राजपूत के ड्रीम प्रोजेक्ट के असिस्टेंट डायरेक्टर की तलाश, ड्रग्स मुहैया कराने का शक

एंटी-ड्रग एजेंसी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को शक है कि पवार का हाथ सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करने में है. एजेंसी को ऋषिकेश पवार की घर की तलाशी के दौरान उनके लैपटॉप में कुछ संदिग्ध इंट्री मिली थी, जिसके बाद NCB ने उन्हें समन भेजकर पेश होने के लिए कहा था, हालांकि पवार नहीं आए.

NCB को सुशांत सिंह राजपूत के ड्रीम प्रोजेक्ट के असिस्टेंट डायरेक्टर की तलाश, ड्रग्स मुहैया कराने का शक

NCB को असिस्टेंट डायरेक्टर ऋषिकेश पवार पर सुशांत को ड्रग्स मुहैया कराने का शक.

मुंबई:

Sushant Singh Rajput Case : पिछले साल जून में अपने अपार्टमेंट में मृत मिले एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के मामले ड्रग्स एंगल की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को अब उनके पूर्व ड्रीम प्रोजेक्ट के असिस्टेंट डायरेक्टर ऋषिकेश पवार की तलाश है. एंटी-ड्रग एजेंसी को शक है कि पवार का हाथ सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करने में है.

एजेंसी को ऋषिकेश पवार की घर की तलाशी के दौरान उनके लैपटॉप में कुछ संदिग्ध इंट्री मिली थी, जिसके बाद NCB ने उन्हें समन भेजकर पेश होने के लिए कहा था लेकिन ऋषिकेश पवार नही आए. पवार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज हो चुकी है इसलिए अब NCB उनकी तलाश कर रही है.

पवार के नाम पर इसलिए भी जोर है क्योंकि सुशांत के स्टाफ दीपेश सावंत ने भी अपने बयान में ऋषिकेश का नाम लिया था और आरोप है कि वो सुशांत को ड्रग्स सप्लाई में शामिल था.

यह भी पढ़ें : सीबीआई बताए कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत खुदकुशी थी या हत्या : अनिल देखमुख

बता दें कि एंटी ड्रग एजेंसी सुशांत केस से शुरू कर अपनी जांच का दायरा फिल्म और टीवी इंडस्ट्री में कथित रूप से फैले ड्रग्स सप्लायरों की चेन तक बढ़ा दिया है. एजेंसी ड्रग एंगल की जांच में कई लोगों से पूछताछ कर चुकी है. इस केस में अबतक 20 से ज्यादा गिरफ्तारियां हो चुकी हैं, वहीं, यह मामला अब पूरी फिल्म और टीवी इ़ंडस्ट्री के नामों तक पहुंच चुका है.


उधर, मामले की मुख्य जांच कर रही सीबीआई इतने महीने बीत जाने के बाद भी कोई फाइनल रिपोर्ट फाइल नहीं कर सकी है. बता दें कि पिछले महीने राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को पत्र लिखकर जांच की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी थी, जिसके जवाब में सीबीआई ने बताया कि वो अभी पूरी गहनता और पूरे पेशेवर ढंग से मामले की जांच कर रही है. इसके लिए आधुनिक वैज्ञानिक तकनीकों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है. जांच के दौरान मौत के सभी पहलू पर विचार किया जा रहा है और किसी भी एंगल को भी अभी किसी तरह से खारिज नहीं किया जा रहा.

मुंबई : बड़ा ड्रग्स सप्लायर पकड़ा गया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com