यह ख़बर 27 नवंबर, 2013 को प्रकाशित हुई थी

तरुण तेजपाल को बचा रहे हैं एक केंद्रीय मंत्री : सुषमा स्वराज

तरुण तेजपाल को बचा रहे हैं एक केंद्रीय मंत्री : सुषमा स्वराज

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने आज आरोप लगाया कि एक केन्द्रीय मंत्री तहलका के संपादक तरुण तेजपाल का बचाव कर रहे हैं, जिस पर अपनी कनिष्ठ सहकर्मी पर कथित रूप से यौन हमला करने का आरोप है।

भाजपा नेता ने किसी का नाम लिए बिना आज ट्वीट किया, केन्द्रीय मंत्री जो कि तहलका के संस्थापक और पैट्रन हैं तरुण तेजपाल का बचाव कर रहे हैं। इस मामले को लेकर कांग्रेस और भाजपा एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं। मामले को सीबीआई को सौंपे जाने की तेजपाल की मांग का विरोध करते हुए भाजपा ने कहा है कि ऐसा करके वह अपने बचाव का रास्ता खोज रहे हैं, क्योंकि वह केन्द्र में सत्तारूढ़ कांग्रेस के करीब हैं।

वहीं कांग्रेस नेता संजय झा ने तुरंत सुषमा स्वराज के ट्वीट का जवाब दिया और लिखा कि सुषमा स्वराज अब तरुण तेजपाल के मामले में कूद पड़ी हैं। बीजेपी खुलकर मजे ले रही है। अब कौन राजनीतिकरण कर रहा है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कांग्रेस ने हालांकि, भाजपा के तर्क को खारिज करते हुए कहा कि इस मामले को राजनीति से जोड़ने की कोई वजह नहीं है। पार्टी के प्रवक्ता पीसी चाको ने तेजपाल के मामले को गुजरात में एक युवती की कथित गैर-कानूनी जासूसी के विवाद से जोड़ा, जिसके बारे में दावा किया जा रहा है वहां के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के कहने पर ऐसा किया गया।

मुख्य विपक्षी दल के वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडु ने भाजपा की मिलीभगत के तेजपाल के आरोप पर कटाक्ष करते हुए कल कहा था, ‘क्या लिफ्ट में तहलका संपादक के भीतर भाजपा की आत्मा चली गई थी? अभी वह कह रहे हैं कि भाजपा शासित गोवा की बजाय उनके मामले को किसी अन्य राज्य में चलाया जाए। कल वह कहेंगे कि इसे देश के बाहर ले जाया जाए, संयुक्त राष्ट्र में ले जाया जाए।' तेजपाल ने सहकर्मी पर यौन हमले के आरोप पर गोवा पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज किए जाने को राजनीतिक रूप से प्रेरित बताते हुए आरोप लगाया है कि राज्य के मुख्यमंत्री मामले में अनावश्यक दिलचस्पी ले रहे हैं।