NDTV Khabar

भारत की ‘एक्ट ईस्ट नीति’ की सक्रिय पक्षकार हैं पूर्वोत्तर राज्यों की सरकारें : सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच अंतर-क्षेत्रीय तथा उप-क्षेत्रीय संपर्क को लेकर चर्चा हुई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत की ‘एक्ट ईस्ट नीति’ की सक्रिय पक्षकार हैं पूर्वोत्तर राज्यों की सरकारें : सुषमा स्वराज

फाइल फोटो

खास बातें

  1. 'पूर्वोत्तर राज्यों की सरकारें ‘एक्ट ईस्ट नीति’ की सक्रिय पक्षकार'
  2. अंतर-क्षेत्रीय तथा उप-क्षेत्रीय संपर्क को लेकर चर्चा हुई
  3. बैठक में संबंधित मंत्रालयों के अधिकारियों ने भी भाग लिया
नई दिल्ली:

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच अंतर-क्षेत्रीय तथा उप-क्षेत्रीय संपर्क को लेकर चर्चा हुई. इस बातचीत में मुख्य मुद्दा राज्यों और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर प्रासंगिक ढांचागत विकास को लगातार जारी रखना था, ताकि व्यापार, निवेश, पर्यटन और लोगों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाया जा सके. सुषमा ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों की सरकारें भारत की ‘ एक्ट ईस्ट नीति’ की सक्रिय पक्षकार हैं. 

यह भी पढ़ें: सुषमा स्वराज ने इटली से भारतीय का शव लाने का दिया भरोसा 

टिप्पणियां

बैठक में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार, असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह, मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा, नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब, अरूणाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री चोवना मेईन और केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने हिस्सा लिया. बैठक में केन्द्र और पूर्वोत्तर राज्यों के संबंधित मंत्रालयों के अधिकारियों ने भी भाग लिया. 


VIDEO: सदन में हंगामें का जिम्मेदार कौन?​
गौरतलब है कि आज की यह बैठक नवंबर, 2017 में पूर्वोत्तर राज्यों के राज्यपालों के साथ हुई बैठक की अगली कड़ी थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement