NDTV Khabar

निधन से पहले बहुत खुश थीं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, चंद घंटे पहले किया था यह Tweet

सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने निधन से ठीक पहले ट्वीट कर लिखा था, 'प्रधानमंत्री जी- आपका हार्दिक अभिनन्दन. मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निधन से पहले बहुत खुश थीं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, चंद घंटे पहले किया था यह Tweet

Sushma Swaraj: सुषमा स्वराज का 67 साल की उम्र में एम्स में निधन हो गया.

नई दिल्ली:

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का 67 साल की उम्र में दिल्ली के एम्स निधन हो गया. सुषमा स्वराज को तबीयत बिगड़ने के बाद रात 10 बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का दोपहर 3 बजे लोदी रोड शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने उऩके निधन पर शोक व्यक्त किया है. बता दें कि सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ट्विटर पर बहुत ज्यादा सक्रिय रहती थीं. अपने निधन से कुछ घंटे पहले भी उन्होंने ट्वीट किया था. बता दें कि जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल लोकसभा से पारित होने के बाद भी उन्होंने एक ट्वीट किया था.


सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने शाम 7 बजकर 23 मिनट पर ट्वीट कर लिखा था, 'बहुत साहसिक और ऐतिहासिक निर्णय. श्रेष्ठ भारत- एक भारत का अभिनन्दन. प्रधानमंत्री जी- आपका हार्दिक अभिनन्दन. मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी.

इससे पहले सोमवार को राज्यसभा से इसी बिल को पारित होने के बाद भी उन्होंने ट्वीट किया था, बहुत साहसिक और ऐतिहासिक निर्णय. श्रेष्ठ भारत- एक भारत का अभिनन्दन. इसके अलावा उन्होंने लिखा था, 'राज्यसभा के उन सभी सांसदों का बहुत-बहुत अभिनन्दन जिन्होनें आज धारा 370 को समाप्त करने वाले संकल्प को पारित करवाकर डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान को सच्ची श्रद्धांजलि दी और उनके एक भारत के सपने को साकार किया. उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को भी बधाई दी थी. 

उन्होंने ट्वीट किया था, 'गृह मंत्री अमित शाह जी को उत्कृष्ट भाषण के लिए बहुत बहुत बधाई.'

सुषमा स्वराज के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक, कहा- 'भारत असाधारण नेता के निधन से दुखी है'

टिप्पणियां

बता दें कि सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने अस्वस्थता के कारण ही पिछला लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला लिया था. उनके इस निर्णय पर बीजेपी के ही समर्थकों में हैरानी थी. कई लोगों ने उनसे चुनाव लड़ने की अपील की थी. इस पर सुषमा स्वराज ने जवाब दिया था कि- मेरे चुनाव ना लड़ने से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. श्री नरेंद्र मोदी जी को पुनः प्रधानमंत्री बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को जिताने में हम सब जी जान लगा देंगे. सुषमा स्वराज ट्विटर पर काफी सक्रिय रहती थीं. विदेश मंत्री रहते हुए वे ट्वीटर पर शिकायत मिलते ही विदेश मंत्रालय से जुड़ीं पासपोर्ट आदि समस्याओं का समाधान कर देती थीं. 16 वीं लोकसभा में वे मध्यप्रदेश के विदिशा से सांसद चुनी गई थीं. सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) विदिशा लोकसभा क्षेत्र से 2009 का चुनाव भी जीती थीं.

VIDEO: पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन, एम्स में ली अंतिम सांस



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement