NDTV Khabar

मोबाइल ऐप से किए जाने वाले पासपोर्ट आवेदनों का डाटा पूरी तरह सुरक्षित : सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री ने कहा- मोबाइल ऐप से पासपोर्ट के लिए आवेदन करने पर डाटा संरक्षण के ठोस उपाय किए गए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोबाइल ऐप से किए जाने वाले पासपोर्ट आवेदनों का डाटा पूरी तरह सुरक्षित : सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. सेवा के तहत आवेदन प्रक्रिया में दो खास फीचर जोड़े गए
  2. मोबाइल फोन में दर्ज डाटा पासपोर्ट सेवा के डाटा केंद्र में संग्रहीत होगा
  3. फर्जी पासपोर्ट आवेदन की पहचान कर उनको डाटा सेंटर अस्वीकार कर देगा
नई दिल्ली: मोदी सरकार द्वारा हाल ही में शुरू किए गए मोबाइल ऐप से पासपोर्ट आवेदन का डेटा सुरक्षित है कि नहीं इसको लेकर जारी बहस को विदेशमंत्री के बयान ने खत्म कर दिया है. सरकार ने कहा इस सेवा के तहत संग्रहीत डाटा पूरी तरह से सुरक्षित है.
 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान इस सेवा से जुड़े एक सवाल के जवाब में बताया कि मोबाइल ऐप से पासपोर्ट के लिए आवेदन करने पर डाटा संरक्षण के ठोस उपाय किए गए हैं. इस सेवा के तहत आवेदन प्रक्रिया में दो खास फीचर जोड़े गए हैं. इससे आवेदन प्रक्रिया पूरी होते ही मोबाइल फोन में दर्ज डाटा पासपोर्ट सेवा के डाटा केंद्र में संग्रहीत हो जाएगा और मोबाइल फोन और ऐप से डाटा अपने आप डिलीट हो जाएगा. जिससे आवेदन के बाद डाटा के दुरुपयोग की संभावना खत्म हो जाती है. 

उन्होंने बताया कि दूसरा फीचर फर्जी पासपोर्ट के आवेदन से जुड़ा है. इसमें साइबर कैफे से ऑनलाइन सेवा के जरिए फर्जी पासपोर्ट आवेदन की पहचान कर ऐसे आवेदन को डाटा सेंटर अस्वीकार कर देगा.

यह भी पढ़ें : महिला पत्रकार के घर पासपोर्ट सत्यापन के लिए पहुंचा पुलिसकर्मी, कहा- आओ मेरे गले लग जाओ 

सुषमा स्वराज ने पासपोर्ट सेवा में कर्मचारियों की कमी के कारण दिक्कतें आने से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि कर्मचारियों के अभाव के बावजूद सेवा की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि 26 जून को शुरू हुई मोबाइल ऐप सेवा से महज तीन सप्ताह में 67500 पासपोर्ट आवेदन किए जा चुके हैं. आवेदक को इस सेवा से पासपोर्ट केंद्र पर दस्तावेजों की जांच के लिए तुरंत समय मिल रहा है.

टिप्पणियां
VIDEO : विदेश मंत्रालय के दखल से मिला पासपोर्ट 

स्वराज ने पासपोर्ट आवेदन प्रक्रिया को आसान बनाने से जुड़े एक अन्य पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि इसकी समीक्षा के बाद प्रक्रिया से जुड़े तमाम अनावश्यक, अप्रासंगिक और अव्यवहारिक नियम हटा दिए गए हैं. इनमें अनाथ बच्चों की जन्मतिथि और तलाकशुदा महिला के पति की जानकारी आदि गैरजरूरी सवालों को हटाना शामिल है. पासपोर्ट की खराब गुणवत्ता के बारे में स्वराज ने कहा कि इसे दुरुस्त करने के लिए दुनिया के अन्य देशों के बेहतर गुणवत्ता वाले पासपोर्ट का अध्ययन कर भारत में भी सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता के पासपोर्ट मुहैया कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.  
(इनपुट एजेंसियों से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement