यह ख़बर 29 जुलाई, 2013 को प्रकाशित हुई थी

आईएएस दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन पर पुनर्विचार को तैयार यूपी सरकार

खास बातें

  • ग्रेटर नोएडा की एसडीएम और आईएएस अफसर दुर्गा शक्ति नागपाल को उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने सस्पेंड कर दिया था। इसके पीछे सरकार धार्मिक सौहार्द को ख़तरे में डालने की वजह बता रही थी।
नोएडा:

ग्रेटर नोएडा की एसडीएम और आईएएस अफसर दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन पर पुनर्विचार को यूपी सरकार तैयार हो गई है। इस मामले में यूपी सरकार की काफी किरकिरी हो रही थी।

ग्रेटर नोएडा की एसडीएम और आईएएस अफसर दुर्गा शक्ति नागपाल को उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार ने सस्पेंड कर दिया था। इसके पीछे सरकार धार्मिक सौहार्द को ख़तरे में डालने की वजह बता रही थी।

लेकिन, कहा यह भी जा रहा है कि नागपाल माइनिंग माफिया की आंख की किरकिरी बन गईं थी। नागपाल की मुहिम से माइनिंग माफिया के धंधे पर चोट लगी थी और अब किसी और मामले में उनपर कार्रवाई की गई थी।

इस मामले में राज्य की आईएएस एसोसिएशन ने मुख्य सचिव से मुलाकात की बात कही थी। इसके बाद कहा जा रहा है कि सरकार अधिकारी के निलंबन पर पुनर्विचार को तैयार हो गई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इस बारे में जानकारी नहीं थी कि यह अधिकारी ईमानदारी से बालू माफिया पर कार्रवाई कर रही है और इस वजह से तमाम लोगों का हित उन्हें वहां से हटाने में है।

हमारे संवाददाता कमाल खान के मुताबिक मुख्यमंत्री इस मामले में निलंबन वापस नहीं लेने का मन बनाया है। सीएम  के करीबी सूत्रों ने बताया है कि दुर्गा को दूसरे स्थान पर ट्रांस्फर कर दिया जाएगा और चेतावनी देकर वापस कार्यालय जाने को कहा जाएगा।