NDTV Khabar

जब स्वरा भास्कर बोलीं: महात्मा गांधी की हत्या का जश्न मनाने वाले आज सत्ता में हैं, देखें VIDEO

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर अपने बेबाक बयानों और अंदाज को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं. इस बार भी वह अपने बेबाकी की वजह से फिर से मीडिया की सुर्खियों में आ गई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब स्वरा भास्कर बोलीं: महात्मा गांधी की हत्या का जश्न मनाने वाले आज सत्ता में हैं, देखें VIDEO

भीमा कोरेगांव हिंसा पर अभिनेत्री स्वरा भास्कर

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर अपने बेबाक बयानों और अंदाज को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं. इस बार भी वह अपने बेबाकी की वजह से फिर से मीडिया की सुर्खियों में आ गई हैं. भीमा कोरेगावं हिंसा में गिरफ्तारी और अर्बन नक्सल की बहसों के बीच अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने कहा कि जिन लोगों ने महात्मा गांधी की हत्या का जश्न मनाया, अभी वह सत्ता में हैं. स्वरा भास्कर ने कोरेगांव हिंसा मामले में हुई गिरफ्तारियों पर भी सवाल उठाया. इंडियन वीमन प्रेस कॉर्प्स की ओर से शनिवार को आयोजित एक कार्यक्रम में स्वरा ने कहा कि लोगों को उनके कर्मों के लिए दंडित किया जाना चाहिए, न कि उनके विचारों और सोच के लिए. 

जिन वाम विचारकों को गिरफ्तार किया गया, उनकी पहचान मनमोहन सरकार में ही हुई थी: गृह मंत्रालय

शनिवार को मीडिया से बात करते हुए स्वरा भास्कर ने कहा, 'जब खालिस्तान का मुद्दा पंजाब में चल रहा था तो वहां बहुत सारे ऐसे लोग थे जो भिंडरावाले को संत बुलाते थे. संत जनरैल के नाम से बुलाते थे, क्या आप उन सबको पकड़ कर जेल में डाल देंगे? आगे उन्होंने कहा कि इस देश में महात्मा गांधी जैसे एक महान शख्स, महान नेता की हत्या हुई, उस वक्त भी कई सारे लोग थे, जो उनकी हत्या का जश्न मना रहे थे, मगर आज वह सत्ता में हैं, क्या आप उन सबको पकड़ कर जेल में डाल देंगे. नहीं, न? इसका जवाब है नहीं. जाहिर सी बात है नहीं. हमारे अंदर एक टेंडेसी बनती जा रही है कि अरे इसे जेल में डालो, यह कोई अच्छी चीज नहीं है. 

सुप्रीम कोर्ट ने कहा - असहमति लोकतंत्र का 'सेफ्टी वॉल्व है, अगर इसे प्रेशर कूकर की तरह दबाएंगे तो...

टिप्पणियां
स्वरा भास्कर ने यह भी कहा कि एक खून का प्यासा समाज बनना कोई अच्छी बात नहीं है.' गौरतलब है कि भीमा कोरेगांव मामले में गिरफ्तार किए गए पांच विभिन्न मानवाधिकार कार्यकर्ताओं (वामपंथी विचारक) की गिरफ्तारी को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन जारी हैं. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को आदेश दिया था कि पांचों कार्यकर्ताओं को छह सितंबर तक उनके घर में ही नजरबंद रखा जाए. 

VIDEO: सिटी सेंटर : 'पूर्व पीएम राजीव गांधी की तरह पीएम की हत्या की साजिश से जुड़ा है मामला'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement