NDTV Khabar

गोवा में शाम ढलने के बाद नहीं कर सकेंगे स्वीमिंग, सरकार कानून बनाने की तैयारी में

पिछले दिनों समुद्र में डूबने की तीन घटनाएं सामने आई थीं, जिसके बाद समुद्र तटों पर पर्यटकों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गोवा में शाम ढलने के बाद नहीं कर सकेंगे स्वीमिंग, सरकार कानून बनाने की तैयारी में

(प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  1. गोवा में सूर्यास्त होने के बाद और शराब पीकर नहीं कर सकेंगे तैराकी
  2. पिछले हफ्ते गोवा में डूबने की तीन घटनाएं सामने आई थीं
  3. यह तीनों घटनाएं शाम ढ़लने के बाद हुई थीं
पणजी:

आए दिन समुद्र, नदियों और तालाबों में लोगों के डूबने की खबरें आती हैं, इसी को ध्यान में रखकर गोवा का पर्यटन विभाग एक कानून बनाने की योजना बना रहा है, जिसके तहत अब लोग सूर्यास्त होने के बाद और शराब पीकर समुद्र में तैराकी नहीं कर सकते हैं. बता दें कि पिछले दिनों समुद्र में डूबने की तीन घटनाएं सामने आई थीं, जिसके बाद समुद्र तटों पर पर्यटकों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए थे.

यह भी पढ़ें:  गोवा में अब इस वजह से बढ़ जाएगा पेट्रोल का दाम

गुरुवार को उत्तरी गोवा के अरब सागर के कैंडोलिम समुद्र तट के पास अहमदाबाद के दो छात्रों की डूबकर मौत हो गई थी. इससे कुछ दिन पहले, एक दूसरी घटना में दो लोग डूब गए थे जो यहां कैंडोलिम-कालंगूट समुद्र तट के पास समुद्र में तैराकी कर रहे थे.

यह भी पढ़ें: गोवा में आपात स्थिति में उतरा गोएयर का विमान


टिप्पणियां

इन दुर्घटनाओं के बाद, राज्य को जीवनरक्षक मुहैया कराने वाली एक निजी एजेंसी ने अशांत समुद्र में तैराकी न करने के लिए परामर्श जारी किए थे. सूत्रों के मुताबिक, हाल की सभी घटनाएं सूर्यास्त के बाद हुई जब इन तटों पर जीवनरक्षक गार्ड मौजूद नहीं होते.

VIDEO: गोवा में नदी पर बना पुल बहा, एक की मौत, कई घायल

पर्यटन विभाग की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिकक, विभाग ने सूर्यास्त के बाद समुद्र में तैराकी को प्रतिबंधित करने के लिए एक कड़ा कानून लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement