बिहार में फिर खुली व्यवस्था की पोल, DMCH में ऑक्सीजन की कमी से युवक की हुई मौत

दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोरोनावायरस वार्ड नंबर 15 में मंगलवार की सुबह मधुबनी जिला के एक कोरोनावायरस से संक्रमित युवक की मौत हो गई.

पटना:

दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोरोनावायरस वार्ड नंबर 15 में मंगलवार की सुबह मधुबनी जिला के एक कोरोनावायरस से संक्रमित युवक की मौत हो गई. ऐसी संभावना है कि मरीज को ऑक्सीजन समय पर नहीं दिए जाने के कारण तड़प-तड़प कर उसकी मौत हो गयी. गौरतलब है कि 27 जुलाई को डीएमसीएच के करोना वार्ड में युवक को भर्ती करवाया गया था.  जहां उसे सांस लेने में कठिनाई के बाद ऑक्सीजन सिलेंडर देकर गैस लगाया गया था लेकिन वह गैस थोड़ी ही देर में खत्म हो गयी थी. जिस कारण मृतक काफी देर तक वहां तड़पता रहा कक्ष में मौजूद अन्य मरीजों द्वारा भी काफी हो हल्ला  किया लेकिन कोई भी चिकित्सक या कर्मी वहां नहीं मौजूद था.

उस कक्ष में भर्ती मरीजों ने अपने परिजनों को अस्पताल में किसी भी तरह के व्यवस्था नहीं होने का हवाला देकर वहां से जल्द हटाने का अनुरोध भी किया है गौरतलब है कि वहां सफाई कर्मी और पारा मेडिकल स्टाफ और खाना देने के लिए ही कर्मी आते हैं. 1 सप्ताह से अधिक दिनों से उस कक्ष में रह रहे अन्य मरीजों का यह भी आरोप है कि अब तक कोई चिकित्सक उन लोगों के सुधि लेने के लिए उस कक्ष में नहीं आए हैं. 28 जुलाई की सुबह 7:00 बजे    से मृतक का शव उस कक्ष में लगभग 7 घंटे तक पड़ा रहा.

नीतीश कुमार ने प्रत्यय अमृत को ही क्यों दिया स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अन्य मरीजों ने अपने परिजनों को शव के पड़े रहने की सूचना दी और वहां के बदहाली के संदर्भ में बताते हुए आग्रह किया कि जल्द ही उसे कहीं अन्यत्र भर्ती कराए. जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल के बड़े अधिकारियों जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ-साथ मीडिया को भी सूचना दी जिसके काफी देर के बाद अस्पताल प्रशासन ने शव को  हटाकर मृतक के परिजनों को सौंपा.

VIDEO: बक्सर में लापरवाही ने ले ली नवजात की जान