तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से "कई लोगों" में फैला COVID : सरकार ने संसद में बताया

दिल्ली पुलिस ने 36 देशों के 956 विदेशी नागरिकों के खिलाफ अब तक 59 आरोपपत्र दायर किए हैं. केंद्र सरकार ने जमात में हिस्सा लेने आए विदेशी नागरिकों का वीजा रद्द कर दिया है और उन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया है. 

तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से

तबलीगी जमात पर राज्यसभा में गृह मंत्रालय का जवाब (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी फैलने के बाद विभिन्न अधिकारियों द्वारा जारी किए गए आदेश के बावजूद मार्च में तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के कार्यक्रम में भारी भीड़ लंबी अवधि तक एक परिसर में एकत्र रही, जिससे कई व्यक्तियों में संक्रमण फैल गया. सरकार ने संसद में सोमवार को यह जानकारी दी. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी राज्यसभा में एक लिखित जवाब में कहा, "जैसा कि दिल्ली पुलिस ने बताया कि COVID-19 महामारी के मद्देनजर विभिन्न प्राधिकरणों द्वारा आदेश/निर्देश जारी करने के बावजूद बिना मास्क, सैनिटाइजर और सामाजिक दूरी का पालन किए भीड़ लंबी अवधि के लिए बंद परिसर में इकट्ठा हुई. इसके कारण कई व्यक्तियों में कोरोना का संक्रमण फैल गया." 

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात की ओर से मार्च में आयोजित धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले सैकड़ों लोग कोरोनावायरस संक्रमित पाए गए थे. इसमें वे लोग भी शामिल हैं, जो तबलीगी कार्यक्रम में हिस्सा लेने वालों के संपर्क में आए थे.

शिवसेना सांसद अनिल देसाई की ओर से सवाल पूछा गया था कि कार्यक्रम में बड़ी संख्या में शामिल लोगों की वजह से दिल्ली  और अन्य राज्यों में कोरोनावायरस फैला है. गृह मंत्रालय ने इसी सवाल का जवाब दिया है.  

READ ALSO: निजामुद्दीन मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए थे विदेशी नाबालिग, दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को दी जानकारी

गृह मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने 29 मार्च वहां से 2361 लोगों को निकला. गृह राज्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने जमात के 233 लोगों को गिरफ्तार किया. हालांकि, तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद ( Maulana Mohd. Saad) के बारे में जांच जारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिल्ली पुलिस ने 36 देशों के 956 विदेशी नागरिकों के खिलाफ अब तक 59 आरोपपत्र दायर किए हैं. केंद्र सरकार ने जमात में हिस्सा लेने आए विदेशी नागरिकों का वीजा रद्द कर दिया है और उन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया है. 

वीडियो: 10 साल के लिए ब्लैकलिस्ट हुए तबलीगी जमात के 2300 सदस्य