तबलीगी जमातियों पर बरसे केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी - COVID-19 फैलाने वाले खुद को बता रहे हैं 'कोरोना वारियर्स'

नकवी ने अपने ट्वीट में कहा, "बेशक कुछ राष्ट्रभक्त मुसलमानों ने जरूरतमंदों को प्लाज्मा दिया है पर उन्हें तब्लीगी कहना ठीक नहीं."

तबलीगी जमातियों पर बरसे केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी - COVID-19 फैलाने वाले खुद को बता रहे हैं 'कोरोना वारियर्स'

नकवी बोले- कुछ राष्ट्रभक्त मुसलमानों ने प्लाज्मा दिया है पर उन्हें तबलीगी कहना ठीक नहीं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने तबलीगी जमात (Tablighi Jammat) से जुड़े लोगों के कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा (Plasma)  देने की पेशकश करने की जानकारी सामने आने के बाद इस संगठन पर निशाना साधते हुए कहा कि कोरोना फैलाने वाले खुद को कोरोना योद्धा (corona warriors) बता रहे हैं. नकवी ने यह दावा भी किया कि यह हर भारतीय मुसलमान को तबलीगी साबित करने की ''तबलीगी साजिश'' है.

मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार को ट्वीट किया, ''भारत में कोरोना फैलाने वाले तबलीगी अपने आप को "कोरोना वारियर्स" बता रहे हैं. कमाल है. तबलीगी अपने गुनाहों पर शर्म करने के बजाय लाखों कोरोना योद्धाओ का अपमान कर रहे हैं. इसे कहते हैं "चोरी और सीनाजोरी"." उनके मुताबिक, बेशक कुछ राष्ट्रभक्त मुसलमानों ने जरूरतमंदों को प्लाज्मा दिया है पर उन्हें तबलीगी कहना ठीक नहीं.

नकवी ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, "बेशक कुछ राष्ट्रभक्त मुसलमानों ने जरूरतमंदों को प्लाज्मा दिया है पर उन्हें तब्लीगी कहना ठीक नहीं. हर हिंदुस्तानी मुसलमान को तब्लीगी साबित करने की "सुनियोजित घटिया तब्लीगी साजिश" है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

केंद्रीय मंत्री नकवी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब तबलीगी जमात के 10 सदस्य राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना से पीड़ित मरीजों की मदद के लिए आगे आए और अपना इलाज के लिए अपना प्लाजा डोनेट किया. ये सभी तबलीगी जमात के सदस्य दिल्ली में आयोजित धार्मिक आयोजन में शामिल हुए थे और उन्हें कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. 

वीडियो: कोविड-19 से ठीक होने के बाद प्लाज्मा दान करना चाहते हैं 300 जमाती