बढ़ते कोरोना मामलों के बीच खुला ताजमहल, दीदार के लिए पहुंचे लोगों ने कहा- वायरस के साथ रहने...

देश में सबसे बड़ा पर्यटन स्थल ताजमहल भी पर्यटकों के लिए खोल दिया गया. मार्च में लॉकडाउन के पहले से ही ताजमहल बंद था, लेकिन 21 सितंबर यानी आज से ताजमहल एक बार फिर जनता के लिए खोल दिया गया है.

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच खुला ताजमहल, दीदार के लिए पहुंचे लोगों ने कहा- वायरस के साथ रहने...

लॉकडाउन के पहले से बंद ताजमहल को फिर जनता के लिए खोला गया.

नई दिल्ली:

भारत में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हालांकि, इसी बीच सोमवार को देश के कई राज्यों में आंशिक रूप से स्कूल खोल दिए गए. वहीं, देश में सबसे बड़ा पर्यटन स्थल ताजमहल भी पर्यटकों के लिए खोल दिया गया. मार्च में लॉकडाउन के पहले से ही ताजमहल बंद था, लेकिन 21 सितंबर यानी आज से ताजमहल एक बार फिर जनता के लिए खोल दिया गया है.

भारत में सोमवार तक कोरोना के मामले 54 लाख के पार हो चुके हैं. सबसे ज्यादा मामले वाले देशों में भारत दूसरे नंबर पर यानी बस USA से आगे है और यह स्थिति भी जल्द बदल सकती है. लेकिन मार्च से लगे लॉकडाउन के बीच लाखों लोगों का रोजगार खत्म हो गया है और लाखों लोगों की रोजी-रोटी पर बन आई है, जिसके चलते केंद्र की मोदी सरकार का फोकस अर्थव्यवस्था को खोलने पर है. पिछले कुछ महीनों में सरकार ने लॉकडाउन में लगातार छूट को बढ़ाया है और अब लगभग सबकुछ खोल दिया गया है. स्कूल-कॉलेजों को भी आंशिक रूप से और कुछ शर्तों के साथ खोल दिया गया है, हालांकि, कई राज्यों ने अभी भी स्कूलों को न खोलने का फैसला किया है. 

कई लोगों का मानना है कि उन्हें अब वायरस के साथ रहने की आदत डालनी होगी. ताजमहल देखने अपने परिवार के साथ आए बैंक कर्मचारी अयूब शेख ने कहा, 'बहुत से लोगों ने लॉकडाउन के चलते अपना रोजगार खो दिया है. लोगों ने बहुत झेला और वक्त आ गया है कि अब सबकुछ पूरी तरह से खोल दिया जाए. हमें वायरस से डर नहीं लगता है. अगर हमें संक्रमण होना है तो हो जाएगा. बहुत से लोग इससे मर नहीं रहे हैं. मुझे नहीं लगता है कि ये इतनी जल्दी जाएगा, हमें इसकी आदत डाल लेनी चाहिए.'

यह भी पढ़ें: तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से "कई लोगों" में फैला COVID : सरकार ने संसद में बताया

आगरा के ताजमहल को हर साल 70 लाख से ज्यादा लोग देखने आते हैं लेकिन 17 मार्च से ही यह बंद है. अधिकारियों का कहना है कि कोविड-19 गाइडलाइंस लागू किए गए हैं. सोमवार को 200 से कुछ ज्यादा लोग ताजमहल पहुंचे थे. यहां पर रोज आने वाले पर्यटकों की संख्या 5,000 तक सीमित रखी गई है. स्पेन से आए पर्यटक ऐन्होआ पर्रा ने कहा, 'कोरोनावायरस हर देश में है. हम हर जरूरी बचाव के कदम उठा रहे हैं. हमें सावधान रहना होगा लेकिन अगर हमें संक्रमण होना है तो हो जाएगा.' वहीं एक स्थानीय कर्मचारी सतीश ने कहा कि 'ताजमहल से कितनों को रोजगार मिलता है. बिजनेस वापस शुरू कर अच्छा लग रहा है.'

Video: दिल्ली : कोरोना की दूसरी खतरनाक लहर, 32 हजार से ज्यादा एक्टिव केस

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)