शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों से लगातार तीसरे दिन वार्ताकारों ने की बातचीत, कहा- आपकी बातें सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचाएंगे

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकारों ने शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से मुलाकात की जहां लोग CAA के खिलाफ पिछले दो महीने से अधिक समय से धरने पर बैठे हैं.

शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों से लगातार तीसरे दिन वार्ताकारों ने की बातचीत, कहा- आपकी बातें सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचाएंगे

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकारों ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से तीसरे दिन भी की बात

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त वार्ताकारों ने शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से मुलाकात की जहां लोग CAA के खिलाफ पिछले दो महीने से अधिक समय से धरने पर बैठे हैं. वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन से बातचीत करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा हम पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि हम 500-500 रुपये लेकर यहां बैठे हैं, क्या हमारा ईमान इतना छोटा है. हमारे ऊपर दो बार गोली चलाई गई. प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा मध्यस्थों के माध्यम से पीएम मोदी से कहा, हमें अच्छे दिन नहीं चाहिए, हमें हमारा हक चाहिए. शुक्रवार को भी शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी CAA-NRC को वापस लेने पर डटे रहे और बातचीत विफल रही.

साधना रामचंद्रन और संजय हेगड़े ने वहां मौजूद लोगों से पूछा कि आप लोगों ने एक रोड बंद की है, दूसरी रोड किसने बंद की है. इसके बाद उन्होंने कहा कि एसएचओ का वहां बुलाया और बातचीत के दौरान खड़े रहने के लिए कहा. वार्ताकारों ने कहा कि हमने आज दिल्ली से नोएडा वाले दूसरे रास्ते भी देख, जानने की कोशिश की क्या वैकल्पिक रास्ते भी हो सकते हैं. यहां हमने देखा कि नोएडा से फरीदाबाद वाला रास्ता पुलिस ने बंद कर रखा है जबकि उसका शाहीन बाग से कोई लेना-देना नहीं है. हमाने कहने पर वह रास्ता खोला भी गया लेकिन थोड़ी देर बाद पता चला कि पुलिस ने उसे दोबारा बंद कर दिया. उन्होंने कहा कि हम कभी नहीं मानेंगे आपने सारे रास्ते बंद किए. 

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम बगल वाली सड़क खोल दें तो अगर हमारी सुरक्षा में ज़रा भी चूक हुई तो कमिश्नर, डीसीपी , एसएचओ और बीट कॉस्टेंबल को बर्ख़ास्तगी की जाए. उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि हमारी सुरक्षा सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्देशित हो. इस पर वार्ताकारों ने कहा कि आप सड़क खोल दें फिर देखिए कितने रास्ते खुल जाएंगे. हम सब देख रहे हैं और आपकी बात कोर्ट में उठाएंगे. दिल्ली पुलिस ने जो रास्ता बंद किया है, इस बात को हम कोर्ट में उठाएंगे, अब इन्हें सुप्रीम कोर्ट में ही जवाब देना होगा. संजय हेगड़े ने कहा कि दिल्ली वालों की दिल्ली है, फिलहाल दिल खोलिए और एक तरफ की सड़क भी. हम सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस को लिखित में देने के लिए कहेंगे, हो सकता है कि इस काम में एक से दो दिन लगें. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com