NDTV Khabar

जल्लीकट्टू का सीएम पलनीस्वामी ने किया शुभारंभ, आज जीतने वाले को इनाम में मिलेगी कार

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलनीस्वामी ने मदुरै के अलंगनलूर में मंगलवार को जल्लीकट्टू को हरी झंडी दिखाई. सांड़ को काबू करने के पारंपरिक खेल जल्लीकट्टू में सोमवार को एक युवक की मौत हो गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जल्लीकट्टू का सीएम पलनीस्वामी ने किया शुभारंभ, आज जीतने वाले को इनाम में मिलेगी कार

जल्लीकट्टू का सीएम पलनीस्वामी ने शुभारंभ

खास बातें

  1. पलनीस्वामी ने मदुरै में मंगलवार को जल्लीकट्टू को हरी झंडी दिखाई
  2. जल्लीकट्टू में सोमवार को एक युवक की मौत हो गई थी
  3. मंगलवार को खेल में एक हज़ार सांड़ और 1200 युवक हिस्सा ले रहे हैं.
चेन्‍नई :

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलनीस्वामी ने मदुरै के अलंगनलूर में मंगलवार को जल्लीकट्टू को हरी झंडी दिखाई. सांड़ को काबू करने के पारंपरिक खेल जल्लीकट्टू में सोमवार को एक युवक की मौत हो गई थी. मंगलवार को खेल में एक हज़ार सांड़ और 1200 युवक हिस्सा ले रहे हैं. आज जीतनेवालों को इनाम में सीएम कार देंगे. जल्लीकट्टू तमिलनाडु में पोंगल महोत्सव का हिस्सा है.

तमिलनाडु : मदुरै जिले में जल्लीकट्टू के दौरान एक युवक की मौत

इससे पहले सोमवार को तमिलनाडु के मदुरै जिले के पलामेदु इलाके में जल्लीकट्टू (सांड़ों को काबू करने का खेल) के दौरान एक सांड़ ने एक दर्शक की जान ले ली जबकि 11 प्रतिस्पर्धी घायल हो गए थे. 19 साल का कलीमुथू दर्शक दीर्घा की पहली कतार में बैठा था जब खेल के मैदान में दौड़ रहा सांड़ एकाएक दर्शक दीर्घा की तरफ आ गया और उसपर हमला कर दिया. इससे कलीमुथू के पेट में गंभीर चोट लगी.

पुलिस ने बताया कि कलीमुथू को आयोजन स्थल पर प्राथमिक उपचार दिया गया और उसके बाद यहां के राजाजी सरकारी अस्पताल के लिए ले जाया गया लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. अधिकारियों ने बताया कि इस घटना के अलावा कार्यक्रम शांतिपूर्ण रहा और कुल 1,080 सांड़ों एवं 1,188 खिलाड़ियों के हिस्सा लेने के साथ कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ पूरा हुआ.


जल्लीकट्टू में इस्तेमाल किए गए सांड का हुआ ऑपरेशन, पेट से निकली हैरान कर देने वाली चीजें

टिप्पणियां

तमिलनाडु के राजस्व मंत्री आर बी उदयकुमार ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया, जिसमें करीब 1,000 सांड़ों और सैकड़ों खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था. पलामेदु जल्लीकट्टू के आयोजन के लिए एक प्रसिद्ध है.  जल्लीकट्टू के खेल में विजयी हुए प्रतिस्पर्धियों को आकर्षक पुरस्कार दिए गए. इसी तरह, खिलाड़ियों को मात देने वाले सांड़ों को भी पुरस्कृत किया गया.

VIDEO: क्या जल्लीकट्टू और कंबाला होने चाहिए?

पुलिस ने बताया कि करीब 1,200 जवानों की तैनाती कर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. घायल हुए 11 खिलाड़ियों का इलाज तुरंत चिकित्सा शिविर में कराया गया और फिर उन्हें घर भेज दिया गया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement