यह ख़बर 27 नवंबर, 2013 को प्रकाशित हुई थी

यौन उत्पीड़न मामला : तरुण तेजपाल की जमानत याचिका पर फैसला 29 को

पणजी/नई दिल्ली:

यौन हमले के मामले में तहलका के संपादक तरुण तेजपाल की अंतरिम जमानत याचिका पर आज दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई हुई। कोर्ट ने तरुण तेजपाल को कोई राहत नहीं दी है। कोर्ट ने अपना फैसला 29 को सुनाने का मन बनाया है। कोर्ट ने किसी भी प्रकार से पुलिस की कार्रवाई में दखल देने से इनकार कर दिया है। इसके अलावा उनकी गिरफ्तारी पर भी रोक नहीं लगाई है।

वहीं, गोवा पुलिस ने कहा है कि तरुण तेजपाल को समन भेज दिया गया है और उन्हें गुरुवार शाम तीन बजे तक पेश होने के लिए कहा गया है।

आज सुनवाई के दौरान तरुण तेजपाल ने कहा कि मेरे खिलाफ सियासी साजिश की जा रही है। याचिका में तेजपाल ने केस की सुनवाई गोवा से बाहर करने की भी मांग की है।

इससे पूर्व पीड़ित पत्रकार ने गोवा पहुंचकर मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज करवाया। वहीं तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी ने आज कहा है कि मैंने पीड़ित लड़की पर कोई दबाव नहीं डाला है। आरोपों में कई सच्चाई नहीं है। मुझे बदनाम किया जा रहा है।

उधर, गोवा पुलिस ने आज तहलका के संपादक तरुण तेजपाल को समन जारी किया, जिन पर अपनी कनिष्ठ सहकर्मी के यौन उत्पीड़न का आरोप है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने पुष्टि की कि जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए तेजपाल को समन जारी किया गया है। उन्होंने हालांकि, यह बताने से इनकार किया कि क्या आरोपी को जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए कोई तारीख या समय दिया गया है।

वहीं तेजपाल के वकील केटीएस तुलसी ने कोर्ट से कहा कि तरुण देश का सम्मानित नागरिक है और वह देश छोड़कर नहीं जाएंगे इसलिए उन्हें गिरफ्तार न किया जाए। लड़की के बयान के बाद गोवा पुलिस ने तेजपाल के खिलाफ बॉर्डर अलर्ट जारी कर दिया, जिससे वह देश छोड़कर न जा पाएं। इधर, पीड़ित की मां ने दिल्ली पुलिस में तेजपाल के परिवार के खिलाफ धमकाने की शिकायत भी दर्ज कराई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com