NDTV Khabar

जेएनयू के छात्रों ने फीस बढ़ोतरी पर किया प्रदर्शन तो तेजस्वी यादव ने दिया यह बयान

दिल्‍ली के जवाहरलाल नेहरू (JNU) विश्वविद्यालय के छात्रों ने सोमवार को फीस बढ़ोतरी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेएनयू के छात्रों ने फीस बढ़ोतरी पर किया प्रदर्शन तो तेजस्वी यादव ने दिया यह बयान

तेजस्वी यादव

खास बातें

  1. जेएनयू के छात्रों ने फीस बढ़ोतरी पर किया प्रदर्शन
  2. तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर साधा निशाना
  3. छात्रों की वाजिब मांगों पर पुलिस बल का प्रयोग निंदनीय है: तेजस्वी
नई दिल्ली:

दिल्‍ली के जवाहरलाल नेहरू (JNU) विश्वविद्यालय के छात्रों ने सोमवार को फीस बढ़ोतरी को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. अब इस मुद्दे पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) का बयान सामने आया है. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, 'देश के सर्वोच्च विश्वविद्यालय JNU में हॉस्टल, मेस समेत फीस की अप्रत्याशित बढ़ोतरी एवं नियमों के बदलाव के खिलाफ छात्रों की वाजिब मांगों पर पुलिस बल का प्रयोग निंदनीय है. BJP नहीं चाहती कि गांव-गरीब के बच्चे JNU जैसी यूनिवर्सिटी में पढ़ें. हम मजबूती से छात्रों की मांगों के साथ हैं.'

तेजस्वी यादव का बिहार सरकार पर निशाना, बोले- नीतीश कुमार जी को कुछ नहीं कहना, नहीं तो...


छात्रों की मांग है कि प्रशासन फीस बढ़ोतरी समेत कई अहम घोषणाओं को वापस ले. सोमवार को ही विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह भी हुआ. इसी दौरान छात्रों ने हॉस्टल फीस बढ़ोतरी और ड्रेस कोड के मुद्दे पर कैंपस में विरोध मार्च निकाला. छात्रों ने वाइस चांसलर के खिलाफ जेएनयू कैंपस के बाहर उग्र प्रदर्शन भी किया. छात्रों के प्रदर्शन को रोकने के लिए भारी संख्या में सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस के जवान तैनात हैं. 

JNU स्टूडेंट्स का विरोध प्रदर्शन तेज होने पर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' को सोमवार को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) में 6 घंटे से भी अधिक समय तक फंसे रहना पड़ा और उन्हें दिन में अपने दो कार्यक्रमों को रद्द करना पड़ा. 'निशंक' उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के साथ JNU के तीसरे दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए AICTE गए थे. 

टिप्पणियां

देखिए, 'कुकर्मी सरकार' ने लोक आस्था के महापर्व छठ पर कैसा विद्वेषपूर्ण व विघटनकारी आदेश दिया था : तेजस्वी यादव

नायडू हालांकि विरोध प्रदर्शन तेज होने से पहले ही परिसर से चले गये थे और निशंक को कैंपस के भीतर ही रहना पड़ा. एचआरडी मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने कहा था, ''वह अंदर हैं. लेकिन स्थिति को संभाल लिया गया है. मंत्री ने JNUSU अध्यक्ष से बात की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी मांगों पर गौर किया जाएगा.''  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement