NDTV Khabar

टीचर ने 12वीं की परीक्षा में '99' की जगह दिए '0' नंबर, बोर्ड ने किया सस्पेंड

तेलंगाना में 12वीं की परीक्षा में फेल होने की वजह से करीब दो दर्जन विद्यार्थियों ने खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद फेल हुए छात्रों से ‘अंकों के फिर से जोड़े जाने और पेपर के पुन:सत्यापन के लिए’ किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लेने का फैसला किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टीचर ने 12वीं की परीक्षा में '99' की जगह दिए '0' नंबर, बोर्ड ने किया सस्पेंड

प्रतीकात्मक तस्वीर.

हैदराबाद:

तेलंगाना में इंटरमीडिएट की परीक्षा में कथित ‘गड़बड़ी' को लेकर विवादों के घेरे में आए तेलंगाना बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट ने एक छात्र को '99' की जगह '0' नंबर देने पर एक टीचर को निलंबित कर दिया और दूसरे पर जुर्माना लगाया है. तीन सदस्यों की कमेटी ने सरकार को रिपोर्ट सौंपी है, इसके बाद बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन ने ड्यूटी में कोताही बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई करना शुरू किया है. बोर्ड ने रविवार देर रात बताया कि 12वीं की छात्रा नव्या का तेलुगू का पेपर जांचने वाली प्राइवेट स्कूल की टीचर उमा देवी पर पांच हजार का जुर्माना लगाया है. टीचर ने '99' की जगह पेपर में '0' नंबर दिए थे. उमा देवी को उस स्कूल ने नौकरी से भी निकाल दिया, जहां वह पढ़ाती थीं. बोर्ड ने साथ ही आदिवासी कल्याण स्कूल के अध्यापक विजय कुमार को भी निलंबित कर दिया, जिसने बतौर स्क्रूटिनाइजर काम किया था, लेकिन वह यह बड़ी चूक नहीं पकड़ पाए.

परीक्षा परिणाम में कथित ‘गड़बड़ी' को लेकर काफी विवाद खड़ा हो गया था. कई छात्रों ने आत्महत्या कर ली, इसके बाद परिजनों, छात्र संघों और विपक्षी दलों ने विरोध प्रदर्शन किया. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने तेलंगाना में इंटरमीडिएट की परीक्षा में कथित ‘‘गड़बड़ी'' की खबरों पर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया था. आयोग ने कहा कि उसने छात्रों की खुदकुशी को लेकर मीडिया में आयी खबरों पर स्वत: संज्ञान लिया है. आयोग ने तेलंगाना सरकार के मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर इस संबंध में चार सप्ताह के अंदर विस्तृत रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था. 


अटेंडेंस के दौरान टीचर ने लिया Mia Khalifa का नाम, उछल-उछलकर हंसने लगे स्टूडेंट्स, देखें VIDEO

बता दें, तेलंगाना में 12वीं की परीक्षा में फेल होने की वजह से करीब दो दर्जन विद्यार्थियों ने खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद राज्य सरकार ने परीक्षा में फेल हुए छात्रों से ‘अंकों के फिर से जोड़े जाने और पेपर के पुन:सत्यापन के लिए' किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लेने का फैसला किया. विद्यार्थी एवं उनके माता-पिता ने तेलंगाना राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (टीएसबीआईई) के दफ्तर के पास जमा होकर विरोध प्रदर्शन किया. 

साथी टीचर से बदला लेने के लिए महिला ने बच्चों के खाने में मिला दिया जहर, फिर हुआ कुछ ऐसा

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने परीक्षा परिणामों के ऐलान और उसके बाद के घटनाक्रम पर शिक्षा मंत्री जी जगदीश रेड्डी और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की. मुख्यमंत्री कार्यकाल की ओर कहा गया कि राव ने 12वीं की कक्षा में फेल होने वाले सभी छात्रों के अंकों की पुनर्गणना और पेपर के पुन:सत्यापन निशुल्क करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए. राव ने कहा कि पूरक परीक्षाओं को पहले आयोजित कराया जाए और जल्द से जल्द परिणाम घोषित किया जाए क्योंकि छात्रों को नीट और जेईई जैसी परीक्षाएं देनी हैं. परीक्षा में फेल होने पर कुछ छात्रों द्वारा कथित रूप से खुदकुशी करने की घटनाओं पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था कि परीक्षा में फेल का होने का मतलब यह नहीं है कि जिदंगी में विफल हो गए हैं.

टिप्पणियां

(इनपुट- आईएएनएस)

बच्चे ने टीचर से कहा- 'एक दिन पायलट बनूंगा...', 30 साल बाद प्लेन में हुआ कुछ ऐसा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement