गांव जाने के लिए सैकड़ों KM चलाई साइकिल, बीच रास्ते खराब हुई तबीयत, घर पहुंचकर दिल के दौरे से मौत

तेलंगाना के दो प्रवासी मज़दूरों ने घर पहुंचने के लिए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली से साइकिल चलानी शुरू की, और 250 किलोमीटर का सफर कर रामागुंडम पहुंच गए.

गांव जाने के लिए सैकड़ों KM चलाई साइकिल, बीच रास्ते खराब हुई तबीयत, घर पहुंचकर दिल के दौरे से मौत

तेलंगाना के दो प्रवासी मज़दूर घर पहुंचने के लिए महाराष्ट्र से साइकिल से निकले (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हैदराबाद:

कोरोनावायरस (Coronavirus) पर काबू पाने के लिए देशभर में लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के बीच कई दुखद खबरें सामने आ रही हैं. मजदूर पैदल, साइकिल पर अन्य तरीके से कैसे भी करके अपने गांव पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि, भारतीय रेलवे की ओर से प्रवासी मजदूरों को अपने गांव पहुंचाने के लिए विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं. लेकिन ये ट्रेनें सभी रूटों पर नहीं चलाई जा रही हैं. लॉकडाउन के बीच ऐसी ही एक दुखद खबर सामने आई है, जहां दो मजदूर सैंकड़ों किलोमीटर साइकिल चलाकर अपने गांव पहुंचे थे. लेकिन में उनमें से एक की रास्ता में तबीयत खराब हो गई थी और घर पहुंचने के बाद दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. 

तेलंगाना के दो प्रवासी मज़दूरों ने घर पहुंचने के लिए महाराष्ट्र के गढ़चिरौली से साइकिल चलानी शुरू की, और 250 किलोमीटर का सफर कर रामागुंडम पहुंच गए, जो तेलंगाना का सबसे गर्म इलाका है. इसके बाद उन्होंने पटनचेरू की दिशा में यात्रा शुरू की, लेकिन उनमें से एक चंद्रैया की तबीयत बिगड़ गई, और उसने परिवार को संदेश भेजा कि वे उसे ले जाएं. 

हालांकि, वह अपने गांव भी पहुंच गया, जहां प्रवेश से पहले उसे COVID-19 टेस्ट करवाने के लिए कहा गया. उस शख्स का टेस्ट नेगेटिव रहा, और वह घर भी पहुंच गया, लेकिन कुछ वक्त के बाद दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई. बताया गया है कि उसके लिवर में कुछ रोग था.

वीडियो: न खाना न पैसा फिर भी निकल पड़े घर को

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com