NDTV Khabar

भगदड़ में पहले भी हो चुकी हैं दर्दनाक मौतें, ये हैं 10 बड़ी घटनाएं

मुंबई में परेल-एलफिंस्टन स्टेशन के पास बने पुल पर ज्यादा भीड़ की वजह से भगदड़ मच गई जिससे एक बड़ा हादसा हो गया. आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है.

1KShare
ईमेल करें
टिप्पणियां
भगदड़ में पहले भी हो चुकी हैं दर्दनाक मौतें, ये हैं 10 बड़ी घटनाएं

भारत में भगदड़ की तस्वीर (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नैना देवी मंदिर में मरे थे 160 लोग.
  2. राजस्थान के चामुंडा देवी मंदिर में 120 मरे थे.
  3. इलाहबाद के कुंभ में 36 लोग मरे थे.
नई दिल्ली: मुंबई में परेल-एलफिंस्टन स्टेशन के पास बने पुल पर ज्यादा भीड़ की वजह से भगदड़ मच गई जिससे एक बड़ा हादसा हो गया. आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है. ऐसा नहीं है कि भारत में पहली बार भगदड़ से जान गई हों. भारत में भगदड़ के ऐसे कई दर्दनाक हादसे हुए जिनमें सैकड़ों लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा. आइए नजर डालते हैं भारत के उन 10 बड़े हादसों पर जहां कई मौतें हुई.

पढ़ें- मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन की भगदड़ देख याद आया इलाहाबाद हादसा, ऐसा था मंजर​

नैना देवी मंदिर में मरे 160 
3 अगस्त, 2006 को हिमाचल प्रदेश में सबसे बड़ा हादसा हुआ था. यहां नैना देवी मंदिर में भगदड़ मची गई. इस भगदड़ में 160 श्रद्धालु मारे गए थे. इनके अलावा 400 से भी ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

चामुंडा देवी मंदिर में 120 मरे
30 सितंबर, 2008 को राजस्थान में जोधपुर के चामुंडा देवी मंदिर में भगदड़ मचने से करीब 120 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 200 से ज्यादा लोग इस भगदड़ में घायल हुए थे. ये भगदड़ यहां नवरात्रि के त्योहार के दौरान मची थी.

पढ़ें- मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़, 22 की मौत​

सबरीमला मंदिर में 106 मरे
14 जनवरी, 2011 को केरल में सबरीमाला मंदिर में हुई भगदड़ अब तक की सबसे बड़ी और विकराल भगदड़ थी. इस भगदड़ में 106 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. वहीं 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

पढ़ें- एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर हादसा : देवेंद्र फडणवीस ने 5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया​

रत्नगढ़ मंदिर के पास भगदड़ में 89 की हुई मौत
मध्यप्रदेश के दातिया में 13 अक्टूबर, 2013 को रत्नगढ़ मंदिर के पास मची भगदड़ में करीब 89 लोगों की मौत हो गई थी. इनके अलावा करीब 100 लोग घायल हो गए थे। ये भगदड़ इस मंदिर के पास एक पुल पर मची थी.
 
ratangarh

राम-जानकी मंदिर में 63 मरे 
उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में 4 मार्च, 2010 को राम-जानकी मंदिर में भगदड़ मचने से 63 लोगों की मौत हो गई. 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. ये भगदड़ उस समय मची जब कृपालु महाराज की पत्नी की पुण्यतिथि के मौके पर कपड़े और खाना बांटा जा रहा था और इसे लेने के लिए करीब 10 हजार लोगों की भीड़ यहां उमड़ी थी.

पढ़ें- एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर एक के ऊपर एक गिरी थी लाशें​

नासिक कुंभ में 40 की मौत
27 अगस्त 2003 को नासिक में कुंभ मेले के दौरान पवित्र मच गई. इस भगदड़ में 40 लोग मारे गए थे। इनके अलावा 125 श्रद्धालु घायल भी हुए थे.

इलाहबाद के कुंभ में 36 मरे 
10 फरवरी, 2013 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में कुंभ मेले के दौरान रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मच गई. इस भगदड़ में करीब 36 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 39 लोग घायल हो गए थे.

हर की पौड़ी पर 22 मरे
8 नवंबर 2011 को हरिद्वार में हर की पौड़ी पर भगदड़ मच गई. इस भगदड़ में 22 लोगों की जान चली गई, जबकि कई अन्य घायल भी हो गए.

छठ घाट पर भगदड़ में 20 की गई जान
बिहार के पटना में अदालत गंज क्षेत्र के एक घाट पर 19 नवंबर, 2012 को भगदड़ मच गई. ये भगदड़ छठ पूजा के दौरान मची थी। इस घटना में करीब 20 लोगों की मौत हो गई थी. इनके अलावा बड़ी संख्या में लोग घायल भी हुए थे.

बैद्यनाथ मंदिर में भगदड़ से 11 की मौत
10 अगस्त, 2015 को देवघर (झारखंड) के प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ मंदिर में अचानक भगदड़ मचने से 11 लोगों की मौत हो गई. इनके अलावा 50 से ज्यादा लोग घायल हुए। मरने वालों में 10 पुरुष और 01 महिला शामिल थी.

VIDEO: एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन हादसा: ग्राउंड रिपोर्ट



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement