NDTV Khabar

सितंबर में तीसरी बार होगा भारत बंद, शक्ति प्रदर्शन के लिए संगठनों में मची होड़

शक्ति प्रदर्शन के लिए भारत बंद की होड़ मच गई है. सितंबर में तीसरी बार भारत बंद का ऐलान हुआ है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सितंबर में तीसरी बार होगा भारत बंद, शक्ति प्रदर्शन के लिए संगठनों में मची होड़

वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे के विरोध में व्यापारियों के संगठन कैट ने 28 सितंबर को भारत बंद की घोषणा की है.

खास बातें

  1. सितंबर में तीसरी बार होगा भारत बंद
  2. अब व्यापारियों के संगठन कैट ने किया ऐलान
  3. वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ड सौदे के विरोध में 28 सितंबर को होगा प्रदर्शन
नई दिल्ली: शक्ति प्रदर्शन के लिए भारत बंद की होड़ मच गई है. सितंबर में तीसरी बार भारत बंद का ऐलान हुआ है. सवर्णों के गुरुवार को बंद के बाद अब कांग्रेस ने जहां ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में भारत बंद का ऐलान किया है, वहीं व्यापारियों के बड़े संगठन कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने 28 सितंबर को देश बंद का ऐलान किया है.वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे और खुदरा कारोबार में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के विरोध में अपने आंदोलन को तेज करते हुए कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आगामी 28 सितंबर को भारत व्यापार बंद का आह्वान किया है. कैट ने एक बयान में कहा कि देश के सभी छोटे एवं बड़े बाजार 28 सितंबर को पूर्ण रूप से बंद रहेंगे और कोई कारोबार नहीं होगा. व्यापारी संगठन ने बताया कि देश भर के करीब सात करोड़ छोटे व्यापारी इस बंद में शामिल होंगे.
SC/ST एक्‍ट के विरोध में सवर्णों के भारत बंद का मध्‍य प्रदेश में दिखा व्‍यापक असर

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वालमार्ट-फ्लिपकार्ट के बीच सौदे से देश के छोटे व्यापारियों को नुकसान होगा, क्योंकि वालमार्ट फ्लिपकार्ट के ई-कॉमर्स प्लेटफार्म का उपयोग करते हुए देश के खुदरा बाजार में दुनियाभर से खरीदे गए सामान भर देगा. उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ व्यापारी बल्कि छोटे उद्योग से जुड़े लोग भी प्रभावित होंगे. 
अब कांग्रेस ने भी किया भारत बंद का ऐलान, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी पर मोदी सरकार का करेगी घेराव

संगठन ने बताया कि आंदोलन के अंतर्गत आगामी 15 सितंबर को कैट दिल्ली से एक 90 दिवसीय डिजिटल रथ यात्रा शुरू कर रहा है जो 16 दिसंबर को वापस दिल्ली में ही एक विशाल रैली के साथ समाप्त होगी. इस संबंध में कैट व्यापारियों से जुड़े ज्वलंत मुद्दों को लेकर एक व्यापारी चार्टर भी जारी करेगा.
पप्पू यादव पर बिहार के मुजफ्फरपुर में हमला, आपबीती सुनाते हुए फूट-फूटकर रोए...देखें VIDEO

उन्होंने कहा कि कैट सरकार से खुदरा व्यापारियों के हितों की रक्षा के लिए वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदा रद्द करने की दिशा में पहल करने की मांग करता है. कैट ने कहा कि व्यापारियों के अलावा ट्रांसपोर्टर्स, किसान, लघु उद्योग से जुड़े लोग, हॉकर्स, उपभोक्ता, स्वयं उद्यमी संगठन, महिला उद्यमी आदि के राष्ट्रीय संगठन भी भारत बंद एवं आंदोलन में शामिल होंगे. कैट की विज्ञप्ति के अनुसार, डिजिटल रथ यात्रा 90 दिन के सफर के दौरान देश के प्रत्येक राज्य में स्थानीय व्यापारी संगठनों द्वारा धरना-प्रदर्शन कर सौदे को रद्द करने की मांग की जाएगी.(इनपुट-IANS से)

वीडियो-सिटी सेंटर: समलैंगिकता अब अपराध नहीं, सवर्णों के भारत बंद का मिला जुला असर 




टिप्पणियां


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement