सुशांत की मौत से एक दिन पहले रिया चक्रवर्ती के उनसे मिलने की बात नहीं साबित कर सकी पड़ोसन, सीबीआई ने चेताया

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के एक दिन पहले रिया चक्रवर्ती के उनसे मिलने का दावा झूठा निकला है. सीबीआई ने जब इन आरोपों पर रिया की एक पड़ोसन से सवाल-जवाब किए तो सच्चाई सामने आ गई. केंद्रीय जांच एजेंसी ने ऐसे झूठे दावे करने वाले लोगों को कड़ी चेतावनी दी है.

खास बातें

  • पड़ोसन का दावा, 13 जून को रिया को घर तक छोड़ने आए थे सुशांत
  • सीबीआई ने पूछा तो बताया कि उसने खुद दोनों को नहीं देखा था
  • रिया के वकील ने झूठी खबर फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा
मुंबई:

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के एक दिन पहले रिया चक्रवर्ती के उनसे मिलने का दावा झूठा निकला है. सूत्रों का कहना है कि सीबीआई (CBI) ने जब इन आरोपों पर रिया की एक पड़ोसन से सवाल-जवाब किए तो सच्चाई सामने आ गई. केंद्रीय जांच एजेंसी ने ऐसे झूठे दावे करने वाले लोगों को कड़ी चेतावनी दी है.

रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने केंद्रीय एजेंसी से ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है, जो मीडिया के समक्ष झूठे आरोप लगाते हुए दावे करते हैं. मानशिंदे ने कहा कि हम टीवी और इलेक्ट्रानिक मीडिया के सामने झूठे और फर्जी दावे करने वाले लोगों की एक सूची केंद्रीय जांच एजेंसी को भेजने वाले हैं.ड्रग्स मामले में एक माह बाद जेल से बाहर आईं रिया चक्रवर्ती ने उनके खिलाफ मीडिया में चल रहे दुष्प्रचार औऱ झूठे दावों को लेकर पहले ही कोर्ट जाने का मन बनाया है.सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा स्थित उनके अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे. मुंबई पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला करार दिया था. फोरेंसिक रिपोर्ट की जांच करने वाले दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों ने भी इस पर मुहर लगाई है. 


TV चैनल के सामने किया था दावा
सूत्रों के मुताबिक, रिया की पड़ोसन ने एक टीवी चैनल के समक्ष दावा किया था कि 13 जून को सुशांत और रिया चक्रवर्ती मिले थे. रिया के घर जांच के सिलसिले में गई सीबीआई ने जब पड़ोसन से तहकीकात की तो दावे को लेकर कोई ठोस बात नहीं बता सकी. रविवार को सूत्रों ने जानकारी दी कि महिला ने जांच एजेंसी के सामने माना कि उसने सुशांत को 13 जून को रिया को उनके घर के बाहर ड्राप करते हुए नहीं देखा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


झूठी और बेबुनियाद खबरों से परेशान परिवार
रिया और उसके परिवार वाले इलेक्ट्रानिक और सोशल मीडिया में उनके खिलाफ चल रही झूठी खबरों और बेबुनियाद आऱोपों को लेकर चिंता जता चुके हैं. उनका कहना है कि ऐसे आऱोपों के कारण ही मामले को तूल दिया गया और तीन केंद्रीय एजेंसियों को जांच में शामिल होना पड़ा. इसके बाद रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शौविक चक्रवर्ती की गिरफ्तारी भी हो गई. बांबे हाईकोर्ट ने पिछले हफ्ते रिया को जमानत दी थी, लेकिन शौविक अभी भी जेल से बाहर नहीं आ पाए हैं.