करतारपुर गलियारे को फिर से खोलने का निर्णय कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार लिया जायेगा: विदेश मंत्रालय

भारत ने शनिवार को कहा कि करतारपुर गलियारे को फिर से खोलने और प्रतिबंधों में ढील देने का निर्णय कोविड-19 से संबंधित प्रोटोकॉल के अनुसार लिया जाएगा.

करतारपुर गलियारे को फिर से खोलने का निर्णय कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार लिया जायेगा: विदेश मंत्रालय

करतारपुर कॉरिडोर (प्रतीकात्मक तस्वीर).

नई दिल्ली:

भारत ने शनिवार को कहा कि करतारपुर गलियारे को फिर से खोलने और प्रतिबंधों में ढील देने का निर्णय कोविड-19 से संबंधित प्रोटोकॉल के अनुसार लिया जाएगा. पाकिस्तान के, कोरोना वायरस महामारी के कारण मार्च से बंद गलियारे को फिर से खोलने के प्रस्ताव के मद्देनजर, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने यह प्रतिक्रिया दी है.

पिछले वर्ष नवम्बर में दो देशों ने भारत के गुरदासपुर में डेरा बाबा साहिब और पाकिस्तान में गुरूद्वारा करतारपुर साहिब को जोड़ने वाले गलियारे को खोला था. इस मुद्दे पर मीडिया के एक सवाल के जवाब में श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘जैसा कि आप जानते हैं, कोविड-19 महामारी के मद्देनजर आवाजाही को बंद किया गया है. हम सभी संबंधित अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं जिनमें गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय शामिल हैं.'' 


उन्होंने कहा, ‘‘गलियारे को फिर से खोलने और पाबंदियों में ढील देने का फैसला कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार लिया जायेगा.''श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तान को पिछले साल किये गये वादे के अनुसार बूढ़ी रावी चैनल पर एक पुल का निर्माण करना बाकी है. उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल करतारपुर गलियारे को खोलने और अक्टूबर 2019 में हस्ताक्षरित द्विपक्षीय समझौते के समय यह निर्णय लिया गया था कि दोनों पक्ष बूढ़ी रावी चैनल पर एक पुल बनाने के साथ साथ अपेक्षित बुनियादी ढांचा भी तैयार करेंगे.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रवक्ता ने कहा, ‘‘एक साल बाद पाकिस्तान को अपनी तरफ से पुल निर्माण का काम करना चाहिए क्योंकि हमारी तरफ से यह तैयार है. मंत्रालय ने बताया कि पाकिस्तान के साथ एक तकनीकी बैठक हुई थी और 27 अगस्त 2020 को दो टीम मिली थीं. हालांकि अभी तक पाकिस्तान की ओर से कोई प्रगति नहीं हुई है.''
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)