NDTV Khabar

तो इस वजह से मजबूर होकर इरोम शर्मिला ने किया 16 साल से जारी अनशन खत्म करने का ऐलान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तो इस वजह से मजबूर होकर इरोम शर्मिला ने किया 16 साल से जारी अनशन खत्म करने का ऐलान

इरोम शर्मिला ने नवंबर, 2000 में अफस्पा के विरुद्ध अनशन शुरू किया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मणिपुर की 'लौह महिला' के रूप में जानी जाती हैं इरोम
  2. आफ्सपा के विरोध में पिछले 16 साल से अनशन पर थी
  3. इरोम ने राजनीति में आने और विवाह रचाने की भी घोषणा की है
इंफाल:

अपना 16 साल पुराना अनशन अगले महीने समाप्त करने की घोषणा कर लोगों को चौंका देने वाली मणिपुर की 'लौह महिला' इरोम चानू शर्मिला ने कहा कि अपने आंदोलन के प्रति आम लोगों की बेरूखी ने उन्हें यह फैसला करने के लिए बाध्य कर दिया।

टिप्पणियां

इरोम ने मीडिया से कहा कि वह सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम (आफ्सपा) हटाने की उनकी अपील पर सरकार की तरफ से कोई ध्यान नहीं देने और आम नागरिकों की बेरूखी से मायूस हुई हैं, जिन्होंने उनके संघर्ष को ज्यादा समर्थन नहीं दिया। उन्होंने राज्य में इनर लाइन परमिट सिस्टम के क्रियान्वयन के लिए चले आंदोलन में स्कूली छात्रों के इस्तेमाल की आलोचना की।


मणिपुर विधानसभा चुनाव लड़ेंगी इरोम
सेना के कथित अत्याचारों के विरुद्ध लगभग 16 साल से लगातार अनशन पर रहकर संघर्ष का पर्याय बन चुकीं मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला अपना अनशन 9 अगस्त को खत्म करने जा रही हैं। भूख हड़ताल खत्म करने के साथ-साथ इरोम ने राजनीति में आने और विवाह रचाने की भी घोषणा की है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement