NDTV Khabar

स्कूल से ही किताबें, यूनिफार्म खरीदने के लिए दबाव डाला तो मान्यता रद्द होगी : सीबीएसई

2.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्कूल से ही किताबें, यूनिफार्म खरीदने के लिए दबाव डाला तो मान्यता रद्द होगी : सीबीएसई

सीबीएसई ने स्कूलों को मनमानी न करने के लिए चेताया है.

खास बातें

  1. सीबीएसई ने संबद्ध स्कूलों को दिया अल्टीमेटम
  2. 13 स्कूलों को नियमों का पालन न करने पर शो काज़ नोटिस
  3. स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक आंदोलनरत
नई दिल्ली: सीबीएसई ने एक एडवाइज़री जारी की है जिसमें सीबीएसई मान्यता प्राप्त सभी स्कूलों को चेताया गया है कि स्कूल बच्चों को स्कूल से ही किताबें और यूनिफार्म लेने के लिए बाध्य नहीं कर सकते. ऐसा करने पर स्कूलों की मान्यता रद्द की जा सकती है. साथ ही सीबीएसई ने डीपीएस मथुरा रोड और आरके पुरम सहित कुल 13 स्कूलों को नियमों का पालन न करने पर शो काज़ नोटिस दिया है.

पिछले कई दिनों से स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी के खिलाफ अभिभावक सड़कों पर उतरे हुए हैं. अब सीबीएससी ने भी मान्यता प्राप्त सभी स्कूलों को चेताया है कि अगर स्कूलों ने बच्चों को स्कूल से ही किताबें और यूनिफार्म लेने के लिए बाध्य किया तो यह नियमों का उल्लंघन होगा. ऐसे में स्कूलों की मान्यता रद्द की जा सकती है.

शिक्षा क्षेत्र में काम करने वाले सुमित वोहरा का कहना है कि "स्कूल मनमाने ढंग से किताबें बेच रहे थे. कई अभिभावकों ने इसकी शिकायत सीबीएसई को की है.  एक केस में सीबीएसई को इस पूरे मसले पर हाईकोर्ट को जवाब भी देना है. इस वजह से थोड़ी देर बाद ही सही सीबीएसई सक्रिय हुआ है." सीबीएसई बोर्ड में एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाई जाती हैं पर बहुत से स्कूल जबरदस्ती बच्चों को स्कूलों द्वारा विक्रय की जा रही अन्य प्रकाशकों की किताबें भी खरीदने के लिए मजबूर करते रहे हैं.

सीबीएसई ने डीपीएस मथुरा रोड और डीपीएस आरके पुरम को प्रिंसिपल का कार्यकाल बढ़ाने में नियमों की अनदेखी करने पर कारण बताओ नोटिस दिया है. सीबीएसई ने पूछा है कि इन स्कूलों की मान्यता क्यों न रद्द की जाए? स्कूलों को एक हफ्ते में जवाब देना होगा. हमने डीपीएस से इस पूरे मामले पर बात करने की कोशिश की लेकिन उसने कोई भी बात करने से मना कर दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement