अमरनाथ यात्रा पर आतंकियों का खतरा, सुरक्षा बलों के लिए चुनौती

जम्मू-कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रा के पूरे रास्ते को अत्यधिक संवेदनशील घोषित किया

अमरनाथ यात्रा पर आतंकियों का खतरा, सुरक्षा बलों के लिए चुनौती

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश
  • पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों को हर जरूरी एहतियात बरतने के निर्देश
  • यात्रा के लिए अब तक दो लाख से अधिक पंजीकरण कराए गए
नई दिल्ली:

कश्मीर में आतंकी घटनाओं के बढ़ने से एक बार फिर शांतिपूर्ण अमरनाथ यात्रा की चुनौती सामने है. हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर यात्रा पर कोई खतरा नहीं माना जा रहा है लेकिन सुरक्षा बलों का मानना है कि अगर सुरक्षा मे जरा सी ढील दी गई तो अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले हो सकते हैं. वैसे जम्मू-कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रा के पूरे रास्ते को अत्यधिक संवेदनशील घोषित किया है. साथ ही सुरक्षा बलों को निर्देश दिया है कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं.

राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों में सेना, पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों से कहा गया है कि वे हर जरूरी एहतियात बरतें ताकि 29 जून से शुरू हो रही यात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके. इसके अलावा यह भी कहा गया है कि खुफिया एजेंसियों और एकीकृत मुख्यालय से मिले निर्देशों और जानकारी को साझा किया जाए ताकि किसी भी संभावित आतंकी घटना को तुरंत रोका जा सके.

अमरनाथ यात्रा श्राइन बोर्ड ने यात्रा में शामिल होने के लिए लाखों लोगों को न्यौता तो दे दिया लेकिन अब वह परेशान हो गया है. अब तक दो लाख से अधिक पंजीकरण हो चुके हैं. यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद हैं. इस भीड़ को संभालने के नाम से ही सुरक्षा बलों के हाथ-पांव फूलने लगे हैं क्योंकि पहले भी आतंकी कई बार सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताकर अपने नापाक मंसूबे कामयाब कर चुके हैं.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com