Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

गुजरात के कच्छ में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका, सुरक्षा बल सतर्क

Gujarat High Alert: नियंत्रण रेखा पर पाक सेना की हरकतें तेज, जमीनी सीमा और समुद्री सीमा पर सुरक्षा चौकसी बढ़ा दी गई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात के कच्छ में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका, सुरक्षा बल सतर्क

Alert in Gujarat: गुजरात के कच्छ में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका के कारण सुरक्षा बलों को सतर्क किया गया है.

खास बातें

  1. कश्मीर में तालिबानी आतंकियों को घुसपैठ कराने की साजिश का खुलासा
  2. श्रीनगर, जम्मू, और लेह एयरपोर्टों की सुरक्षा के लिए हाई अलर्ट जारी
  3. कश्मीर में सुरक्षा बल घर-घर तलाशी अभियान भी चलाएंगे
नई दिल्ली:

रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार गुजरात के कच्छ में आतंकियों के घुसने की आशंका के बाद सुरक्षा बलों को सतर्क कर दिया गया है. जमीनी सीमा और समुद्री सीमा पर सुरक्षा चौकसी बढ़ा दी गई है. पिछले हफ्ते नेवी चीफ ने भी अंडर वाटर आतंकी अटैक की आशंका जताई थी. नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाक सेना की हरकतें तेज हो गई हैं. एलओसी पर फायरिंग की आड़ में आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश की जा रही है.

रक्षा सूत्रों के अनुसार कश्मीर घाटी में अफगानी तालिबानी आतंकियों को घुसपैठ कराने की पाकिस्तान की साजिश का खुलासा हुआ है. सेना पूरी तरह सतर्क है और एलओसी पर चौकसी बढ़ा दी गई है. कश्मीर में सुरक्षा बल रात में घर-घर तलाशी अभियान भी चलाएंगे ताकि आतंकियों को किसी भी घटना को अंजाम देने से रोका जा सके.

पाकिस्तान को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की दो टूक- कश्मीर कब आपका था, जो उसे लेकर रोते रहते हो


ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी ने भी जम्मू कश्मीर के सभी एयरपोर्ट, जिसमें श्रीनगर, जम्मू, और लेह शामिल हैं, पर आतंकी हमले को लेकर हाई अलर्ट जारी किया है. भारत-पाकिस्तान सीमा से सटे सभी एयरपोर्टों की सुरक्षा बढ़ाने को लेकर हाई अलर्ट जारी किया गया है. इन एयरपोर्टों पर आतंकी हमले का खतरा है.

पाकिस्तान हिंसा फैलाने की कर रहा कोशिश, कश्मीर को लेकर उसका रवैया 'गैरजिम्मेदाराना': विदेश मंत्रालय

टिप्पणियां

VIDEO : कश्मीर से पाकिस्तान का क्या वास्ता



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... प्रयागराज: PM मोदी ने दिव्यागों को बांटे उपकरण, बोले- 130 करोड़ भारतीयों की सेवा करना, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता 

Advertisement