इस बर्बर कृत्य की निंदा के लिए शब्द नहीं हैं..." ममता बनर्जी ने हाथरस की घटना पर कहा

यूपी सरकार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है. एसआईटी में गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीआईजी चंद्रप्रकाश और प्रोवेंशियल आर्म्ड कॉन्सटेबलरी की प्रमुख पूनम को शामिल किया गया है.

इस बर्बर कृत्य की निंदा के लिए शब्द नहीं हैं...

"ये वोट के लिए वादे और नारे बुलंद करने वालों को बेनकाब करता है."

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ रेप और हत्या की वारदात को शर्मनाक और बर्बर करार देते हुए यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है. बता दें कि यूपी हाथरस में एक दलित युवती के साथ रेप किया गया और उसे इतनी बुरी तरह से पीटा गया है कि वह कई दिनों तक जिंदगी और मौत से लड़ती रही और मंगलवार को उसने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया.

ममता बनर्जी ने एक ट्वीट में कहा, "हाथरस में एक युवा दलित लड़की से बर्बर और शर्मनाक घटना की निंदा करने के लिए कोई शब्द नहीं हैं. परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है."

पश्चिम बंगाल की सीएम ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, "इससे भी ज्यादा शर्मनाक है कि पीड़िता के परिजनों के बिना और उनकी अनुमति के बिना इस बेटी की अंतिम संस्कार कर दिया गया. ये वोट के लिए वादे और नारे बुलंद करने वालों को बेनकाब करता है. "

इस मामले में यूपी पुलिस की कार्रवाई पर लगातार सवाल उठते रहे. हालांकि बाद में यूपी सरकार ने परिवार को मुआवजे का ऐलान करते हुए न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है. यूपी सरकार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है. एसआईटी में गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीआईजी चंद्रप्रकाश और प्रोवेंशियल आर्म्ड कॉन्सटेबलरी की प्रमुख पूनम को शामिल किया गया है.

यह भी पढ़ें- अहंकारी सरकार की लाठियां हमें रोक नहीं सकती, हमारा इरादा पक्का है : प्रियंका गांधी वाड्रा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसके साथ ही सीएम आदित्यनाथ ने अभियुक्तों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने और प्रभावी ढंग से पैरवी करने के स्पष्ट निर्देश दिए. बता दें कि 15 दिन पहले हाथरस में सामूहिक बलात्कार के बाद 19 वर्षीय युवक की 29 सितंबर को दिल्ली की सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई. पीड़िता को 28 सितंबर को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मेडिकल कॉलेज से सफदरजंग अस्पताल लाया गया था.

बीजेपी ने कहा- सरकार ने पीड़ित परिवार से बात किया है, जांच चल रही है