NDTV Khabar

EVM पर नहीं थी कोई दिक्‍कत, पहली बार इस्‍तेमाल में लाई गई VVPAT मशीनों में आई थी खराबी: चुनाव आयुक्‍त

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ओपी रावत ने कहा कि वीवीपीएटी मशीन में दिक्कतें आई थीं, जिन्हें पोलिंग पार्टी द्वारा पहली बार वहां इस्तेमाल किया जा रहा था. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
EVM पर नहीं थी कोई दिक्‍कत, पहली बार इस्‍तेमाल में लाई गई VVPAT मशीनों में आई थी खराबी: चुनाव आयुक्‍त

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ओपी रावत

खास बातें

  1. ईवीएम में कोई भी दिक्कत नहीं थी
  2. वीवीपीएटी मशीन में दिक्कतें आई थीं
  3. वीवीपीएटी मशीन को पोलिंग पार्टी द्वारा पहली बार वहां इस्तेमाल किया गया
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों की दर्जन भर लोकसभा और विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों पर मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ओपी रावत ने कहा कि कल (सोमवार) ईवीएम में कोई भी दिक्कत नहीं थी. उन्‍होंने कहा कि वीवीपीएटी मशीन में दिक्कतें आई थीं, जिन्हें पोलिंग पार्टी द्वारा पहली बार वहां इस्तेमाल किया जा रहा था. 

ईवीएम पर विलाप आखिर कब तक...

सोमवार को चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुये आशंका जतायी है कि अत्यधिक गर्मी भी इसकी वजह हो सकती है. सूत्रों के मुताबिक आयोग ने संभावना जतायी है कि वीवीपेट मशीनों को लाने-ले जाने में कर्मचारियों के लापरवाही पूर्ण रवैये की वजह से इनमें गड़बड़ी पैदा हुयी होगी. आयोग ने कहा कि अत्यधिक गर्मी के कारण मशीनें गरम होने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है.

2019 में लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ कराने पर चाहिए होंगे इतने लाख EVM

इससे पहले सपा, रालोद और कांग्रेस के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल और भाजपा नेताओं ने मतदान के दौरान ईवीएम एवं वीवीपेट मशीनों में गड़बड़ी का मामला आयोग के समक्ष उठाया. सूत्रों के अनुसार आयोग ने इन दलों के नेताओं को कुछ मतदान केन्द्रों पर वीवीपेट मशीनों में गड़ीबड़ी की शिकायतों पर जरूरी कार्रवाई का भरोसा दिलाया है. आयोग के एक अधिकारी ने कहा ‘ईवीएम में कोई अनियमितता नहीं पायी गयी. जहां तक वीवीपेट में गड़बड़ी का सवाल है तो पहली बार तैनात कर्मचारियों द्वारा ईवीएम का संचालन करना, अत्यधिक गर्मी, धूप में वीवीपेट मशीनों का रखा जाना और इन्हें लाने ले जाने में लापरवाही बरतना, इसके संभावित कारण हो सकते है.’आयोग ने इन शिकायतों की तह में जाकर गड़बड़ियों के मूल कारण का विश्लेषण कर भविष्य में स्थिति को बेहतर बनाने का भरोसा दिलाया. आयोग ने आश्वस्त किया है कि वीवीपेट से जुड़ी शिकायतों की पुष्टि करने के बाद जिला निर्वाचन कर्मियों ने इन्हें दुरुस्त करने के लिये माकूल कार्रवाई की.

राजनीतिक दलों के चंदे की जानकारी पर EC ने कहा, RTI से बाहर हैं पॉलिटिकल पार्टियां

टिप्पणियां
आयोग ने यह मामला उठाने वाले सभी दलों के नेताओं से कहा कि संबद्ध क्षेत्रों के निर्वाचन अधिकारियों, जिला निर्वाचन अधिकारियों और पर्यवेक्षकों की इस बारे में रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई भी की जायेगी. उल्लेखनीय है कि सपा नेता रामगोपाल यादव , रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह और कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने आयोग से उत्तर प्रदेश में कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा तथा महाराष्ट्र में भंडारा गोंदिया लोकसभा और पालघर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में मतदान के दौरान ईवीएम वीवीपेट में गड़बड़ी आने की शिकायतों का मामला उठाया. इसके बाद भाजपा नेता भूपेन्द्र यादव और अरुण सिंह ने भी उपचुनाव वाले क्षेत्रों में 197 मतदान केन्द्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी का मुद्दा आयोग के समक्ष उठाया था.

VIDEO: उपचुनावों में फिर EVM पर सवाल
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement