कोविड-19 वैक्‍सीन के तीसरे फेस का ह्यूमन ट्रायल जल्‍द ही भुवनेश्‍वर में होगा शुरू

डॉ. राव के अनुसार, ट्रायल को लेकर लोगों में काफी उत्‍साह देखने को मिला है और उन्‍होंने इसके लिए खुद को पेश किया है. 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को ही ह्यूमन ट्रायल के लिए चुना जाएगा.

कोविड-19 वैक्‍सीन के तीसरे फेस का ह्यूमन ट्रायल जल्‍द ही भुवनेश्‍वर में होगा शुरू

कोविड-19 वैक्‍सीन के तीसरे चरण का ट्रायल जल्‍द शुरू होगा (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • ट्रायल को CDSCO की मिल गई है मंजूरी
  • इसमें हजारों वालेंटियंस को किया जाएगा शामिल
  • 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों पर किया जाएगा ट्रायल
भुवनेश्‍वर :

Covid-19 Pandemic: देश में निर्मित कोविड-19 वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) COVAXIN के तीसरे फेस का ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) जल्‍द ही एक प्राइवेट अस्‍पताल में शुरू होगा. एक अधिकारिी ने यह जानकारी दी. COVAXIN ह्यूमन ट्रायल मामले में चीफ इनवेस्‍टीगेटर और डिपार्टमेंट ऑफ कम्‍युनिटी मेडि‍सिन एट द इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड SUM हॉस्पिटल के प्रोफेसर डॉ. ई. वेंकट राव ने रविवार को बताया कि कोविड-19 के वैक्‍सीन की खोज लगभग अंतिम चरण में पहुंच गई है. IMS और SUM हॉस्पिटल देश के उन 21 मेडिकल इंस्‍टीट्यूट में से हैं, देशभर से जिनका चयन इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिचर्स (ICMR) की ओर से तीसरे फेस के ट्रायल के लिए किया गया है.

लगातार तीसरे दिन दिल्ली में चार हज़ार से ज्यादा कोरोना के नए मामले

आईसीएमआर और भारत बायोटेक की ओर से देश में निर्मित इस वैक्‍सीन को तीसरे चरण के ट्रायल के लिए सेंट्रल ड्रग स्‍टेंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) की ओर से मंजूरी मिल गई है. डॉ. राव के अनुसार, पहले और दूसरे फेस के ट्रायल के दौरान यह वैक्‍सीन मापदंडों पर खरी उतरी और इसका किसी पर विपरीत प्रभाव नहीं देखा गया. 

14 साल की छात्रा ने कोरोना संक्रमण से निजात दिलाने में मददगार हो सकने वाले इलाज की खोज की

उन्‍होंने बताया कि अब बड़े स्‍तर पर होने वाले ट्रायल में हजारों की संख्‍या में वालंटियर्स को शामिल किया जाएगा. डॉ. राव ने बताया कि इस फेस के दौरान आयु सीमा और अहर्ता/स्‍क्रीनिंग क्राइटेरिया में रियायत दी जाएगी और ऐसे वालेंटियर्स जो स्‍वस्‍थ है, वे भी ट्रायल में शामिल किए जाएंगे. वैक्‍सीन के प्रभाव को जानने के लिए एक सीमित समय तक वालेंटियर्स पर नजर रखी जाएगी. डॉ. राव के अनुसार, ट्रायल को लेकर लोगों में काफी उत्‍साह देखने को मिला है और उन्‍होंने इसके लिए खुद को पेश किया है. 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को ही ह्यूमन ट्रायल के लिए चुना जाएगा.


लॉकडाउन भले ही चला गया हो, लेकिन वायरस नहीं : पीएम मोदी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)