"ये गठबंधन के लिए ठीक नहीं",अरुणाचल में जेडीयू के 6 विधायकों के बीजेपी में शामिल होने पर बोले केसी त्यागी

जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि अरुणाचल की घटना को लेकर जेडीयू ने क्षोभ व्यक्त किया है. बीजेपी को अटल बिहारी वाजपेयी के अटल धर्म को अपनाना चाहिए. लव जिहाद के घृणात्मक काम को लेकर समाज को बांटा जा रहा है.

खास बातें

  • JDU के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बोले महासचिव केसी त्यागी
  • जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए पार्टी सांसद आरसीपी सिंह
  • नीतीश कुमार ने खुद रखा आरसीपी सिंह के नाम का प्रस्ताव
पटना:

अरुणाचल प्रदेश में छह विधायकों के बीजेपी (BJP) में शामिल होने को लेकर जेडीयू ने अपनी पीड़ा व्यक्त की है. जेडीयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी (JDU National Executive meeting) की बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में पार्टी महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि यह गठबंधन की राजनीति के लिए ठीक नहीं है. पार्टी ने लव जिहाद (Love Jihad) के कानून को लेकर बीजेपीशासित राज्यों में चल रही कवायद को भी गलत ठहराया.


त्यागी (LC Tyagi) ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश की घटना (Arunachal 6 JDU MLA Join BJP) को लेकर जेडीयू ने क्षोभ व्यक्त किया है. बीजेपी को अटल बिहारी वाजपेयी के अटल धर्म को अपनाना चाहिए. जेडीयू ने इस मसले पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से बात की है. जेडीयू के विधायकों को अरुणाचल के मंत्रिमंडल में शामिल करने की बात कही गई थी, लेकिन उन्होंने अपने पार्टी में ही शामिल कर लिया. इससे जदयू आहत है. त्यागी ने कहा कि लव जिहाद के घृणात्मक काम को लेकर समाज को बांटा जा रहा है , इसे ठीक नही माना जा रहा है. दरअसल, यूपी के बाद मध्य प्रदेश में भी लव जिहाद को लेकर कानून बनाया जा रहा है. हरियाणा समेत कई अन्य राज्यों में इसकी तैयारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


त्यागी ने कहा कि इस बार विधानसभा के परिणाम के बाद नीतीश कुमार (Nirish Kumar) मुख्यमंत्री नही बनना चाहते थे, लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार ने अपने आप को अध्यक्ष पद से मुक्त कराने की बात कही थी. लिहाजा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में आरसीपी सिंह का नाम राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए प्रस्ताव दिया, अगले तीन साल के अध्यक्ष रहेंगे.जदयू के कार्यकर्ता को दी गई है जिम्मेदारी ,कि वो उन लोगो का पता लगाएं की आखिर हार का कारण क्या रहा है ,