NDTV Khabar

मोसुल में भारतीयों की मौत का मामला: वीके सिंह बोले-मुआवजे का ऐलान करना 'बिस्कुट बांटने' जैसा काम नहीं

अमृतसर एयरपोर्ट पर मारे गए लोगों के परिजनों की तरफ से मुआवजे की मांग किए जाने के सवाल पर विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि, 'ये बिस्कुट बांटने वाला काम नहीं है'.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोसुल में भारतीयों की मौत का मामला: वीके सिंह बोले-मुआवजे का ऐलान करना 'बिस्कुट बांटने' जैसा काम नहीं

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह.

अमृतसर: इराक के मोसुल में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) द्वारा मारे गए भारतीय नागरिकों के अवशेष लेकर विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह सोमवार को भारत पहुंचे. इसके बाद वह सबसे पहले पंजाब गए. मोसुल में 39 भारतीय मारे गए थे. इनमें से 38 के अवशेष भारत आए हैं. एक की पहचान नहीं हो पाई. इनमें से 27 लोग में पंजाब के थे. अमृतसर एयरपोर्ट पर मारे गए लोगों के परिजनों की तरफ से मुआवजेकी मांग किए जाने के सवाल पर विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि, 'ये बिस्कुट बांटने वाला काम नहीं है'. विदेश राज्य मंत्री के इस बयान के बाद विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है. 

यह भी पढ़ें : इराक में मारे गए लोगों के परिजनों को हिमाचल प्रदेश सरकार देगी चार-चार लाख रुपये

अमृतसर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात करते हुए विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा कि, 'यह बिस्कुट बांटने वाला काम नहीं है. यह आदमियों की जिंदगी का सवाल है. आ गई बात समझ में? मैं अभी ऐलान कहां से करूं? मेरे जेब में कोई पिटारा थोड़े रखा हुआ है. वीके सिंह की इस टिप्पणी के बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर निशाना साधा. 
 
रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, इराक के मोसुल में 39 भारतीय मारे गए, क्योंकि मोदी सरकार लगातार परिवारों और राष्ट्रों को गुमराह कर रही है. वीके सिंह अब परिवार के लिए मुआवजे की मांग को 'बिस्कुट' के लिए मांग के समान खारिज करके 'घाव पर नमक' लगाने का काम कर रहे हैं. यह बेहद शर्मनाक है. 

यह भी पढ़ें : इराक के बादोश गांव में चार साल से दफन थे 39 भारतीयों के शव, रेतीली मिट्टी से लिए सैंपल

गौरतलब है कि पंजाब में अमरिंदर सिंह की सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार मरने वाले हर शख्‍स के परिवार को पांच लाख रुपये और परिवार के एक सदस्‍य को उसकी योग्‍यता के अनुसार नौकरी देगी.

VIDEO : भारतीय नागरिकों के अवशेष लेकर भारत पहुंचे वीके सिंह


टिप्पणियां
इसके अलावा वीके सिंह से जब यह पूछा गया कि उनकी हत्या कैसे हुई तो उन्होंने बताया, 'जब परीक्षण किया गया (अवशेषों का) तो पता चला कि कुछ लोगों की गोली मारकर हत्या की गई थी, जबकि कुछ मामलों में यह बताना कठिन है कि उनकी हत्या कैसे हुई थी.' उन्होंने कहा कि यह भी पता लगाना मुश्किल है कि उनकी हत्या कब हुई थी. उन्होंने कहा, 'लेकिन हमें बताया गया कि करीब एक वर्ष पहले उनकी हत्या की गई होगी.'

(इनपुट : एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement