NDTV Khabar

पिछले 20 वर्षों में मानसून सत्र ‘सबसे अधिक सार्थक’ रहा: अनंत कुमार 

शनिवार को समाप्त हुए मानसून सत्र में 20 विधेयक पारित किये गये. लोकसभा का कामकाज 118 प्रतिशत रहा जबकि राज्यसभा का 74 प्रतिशत रहा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पिछले 20 वर्षों में मानसून सत्र ‘सबसे अधिक सार्थक’ रहा: अनंत कुमार 

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने आज कहा कि पिछले 20 वर्षों में संसद का मानसून सत्र सबसे अधिक सार्थक सत्र रहा.  शनिवार को समाप्त हुए मानसून सत्र में 20 विधेयक पारित किये गये. लोकसभा का कामकाज 118 प्रतिशत रहा जबकि राज्यसभा का 74 प्रतिशत रहा. कुमार ने सत्र की सफलता के लिए दोनों सदनों के सदस्यों को धन्यवाद दिया और इसे सामाजिक न्याय का उत्सव करार दिया क्योंकि इस सत्र के दौरान ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिये जाने संबंधी एक विधेयक और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) संशोधन विधेयक पारित किये गये.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: बजट सत्र की तरह मानसून सत्र के हंगामेदार रहने की संभावना, विपक्ष ने बनाई ये रणनीति

संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल ने बताया कि मानसून सत्र 18 जुलाई से शुरू हुआ था. 24 दिनों की अवधि में इसकी 17 बैठकें हुई. सत्र के दौरान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया जिसे बड़े अंतर से गिरा दिया गया.लोकसभा में 21 विधेयक और राज्यसभा में एक विधेयक लाया गया. सत्र के दौरान लोकसभा ने 21 विधेयक पारित किये और राज्यसभा ने 14 विधेयक पारित किये. संसद के दोनों सदनों ने 20 विधेयक पारित किये. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement