मेडिकल स्टॉफ को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए बना यह खास केबिन

Coronavirus: केबिन के जरिए डॉक्टर मरीजों के शारीरिक संपर्क में आए बिना उनका परीक्षण कर सकेंगे, उनके नमूने लिए जा सकेंगे, जींद के अस्पताल में लगा केबिन

मेडिकल स्टॉफ को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए बना यह खास केबिन

जींद के सिविल अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमण से मेडिकल स्टाफ को बचाने के लिए खास किस्म का केबिन स्थापित किया गया.

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से लोगों को बचाना एक बड़ी चुनौती है वहीं कोरोना वायरस संक्रमित लोगों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए इस वायरस की चपेट में आने से बचना कहीं ज्यादा बड़ी चुनौती है. ऐसे वक्त में मेडिकल स्टॉफ को संक्रमण से बचाने के लिए जींद के सिविल अस्पताल में एक नई कोशिश शुरू की गई है. यहां एक खास किस्म की केबिन बना गया है जिसके जरिए डॉक्टर मरीजों के शारीरिक संपर्क में आए बिना उनका परीक्षण कर सकेंगे.
        
हरियाणा के जींद के अस्पताल में शनिवार को स्थापित किया गया यह एक ऐसा केबिन है जिसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसके अंदर बैठा डॉक्टर शारीरिक रूप से रोगी के संपर्क में आए बिना केबिन के बाहर बैठे मरीज का नमूना ले सकते हैं. 

4blgakm8

कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलाव को रोकने के लिए दक्षिण कोरिया की कोशिशों को ध्यान में रखते हुए जींद के सिविल अस्पताल में यह नवीन प्रयोग किया गया है. जींद के अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में एक केबिन आज लगा दिया गया. यह डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ के लिए बहुत सुरक्षित है. इससे मरीज का नमूना लेने वाला व्यक्ति काफी सहज होगा. यह केबिन बहुत महंगा नहीं है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com